लघुकथा

बेटी

अस्पताल से आते ही निढाल हो बैठ गया चेहरे पर शिकन ,चिंता दिख रही है।
” माँ , उसके ग्रुप का खून नही मिल रहा है और डॉक्टर बोल रहे खून बहुत बह गया है ।
उसकी माँ को बुला लेता हूँ कोरोना में किसका लेंगे ??
” चल अभी ले चल मुझे अस्पताल “।
थोड़ी देर में एक माँ का खून दूसरी माँ की रगों में जा रहा है।।

— डॉ सारिका औदिच्य

परिचय - डॉ सारिका रावल औदिच्य

पिता का नाम ---- विनोद कुमार रावल जन्म स्थान --- उदयपुर राजस्थान शिक्षा----- 1 M. A. समाजशास्त्र 2 मास्टर डिप्लोमा कोर्स आर्किटेक्चर और इंटेरीर डिजाइन। 3 डिप्लोमा वास्तु शास्त्र 4 वाचस्पति वास्तु शास्त्र में चल रही है। 5 लेखन मेरा शोकियाँ है कभी लिखती हूँ कभी नहीं । बहुत सी पत्रिका, पेपर , किताब में कहानी कविता को जगह मिल गई है ।

Leave a Reply