धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

रोड शो- 10 : बातें प्रेरक व रोचक सुर्खियों की

आज बातें प्रेरक व रोचक सुर्खियों की करते हैं. सबसे पहले पढ़ते हैं एक प्रेरक किस्सा-

”एक मंदिर था। उसमें सब लोग पगार पर काम करते थे।
आरती वाला, पूजा कराने वाला आदमी, घंटा बजाने वाला भी पगार पर था…
घंटा बजाने वाला आदमी आरती के समय भाव के साथ इतना मशगुल हो जाता था कि होश में ही नहीं रहता था।
घंटा बजाने वाला व्यक्ति भक्ति भाव से खुद का काम करता था। मंदिर में आने वाले सभी व्यक्ति भगवान के साथ साथ घंटा बजाने वाले व्यक्ति के भाव के भी दर्शन करते थे,उसकी भी वाह वाह होती थी…
एक दिन मंदिर का ट्रस्ट बदल गया,और नए ट्रस्टी ने ऐसा आदेश जारी किया कि अपने मंदिर में काम करते सब लोग पढ़े-लिखे होना जरूरी है। जो पढ़े-लिखे नहीं है उन्हें निकाल दिया जाएगा।
उस घंटा बजाने वाले भाई को ट्रस्टी ने कहा कि ‘तुम्हारे आज तक का पगार ले लो अब से तुम नौकरी पर मत आना।
उस घंटा बजाने वाले व्यक्ति ने कहा, ‘साहेब भले मैं पढ़ा लिखा नहीं हूं पर इस कार्य मैं मेरा भाव भगवान से जुड़ा हुआ है देखो…
ट्रस्टी ने कहा, ‘सुन लो, तुम पढ़े-लिखे नहीं हो, इसलिए तुम्हें रख नहीं रख पाएंगे…
दूसरे दिन मंदिर में नये लोगों को रख लिया…परन्तु आरती में आए लोगों को अब पहले जैसा मजा नहीं आता। घंटा बजाने वाले व्यक्ति की सभी को कमी महसूस होती थी।
कुछ लोग मिलकर घंटा बजाने वाले व्यक्ति के घर गए, और विनती की तुम मंदिर आया करो।
उस भाई ने जवाब दिया, ‘मैं आऊंगा तो ट्रस्टी को लगेगा नौकरी लेने के लिए आया है इसलिए आ नहीं सकता हूं…’
लोगों ने एक उपाय बताया कि ‘मंदिर के बराबर सामने आपके लिए एक दुकान खोल देते हैं, वहां आपको बैठना है और आरती के समय बजाने आ जाना, फिर कोई नहीं कहेगा तुमको नौकरी की जरूरत है..’
उस भाई ने मंदिर के सामने दुकान शुरू की, वह
इतनी चली कि एक दुकान से सात दुकान और सात दुकान से एक फैक्ट्री खोली।
अब वो आदमी मर्सिडीज से घंटा बजाने आता था ।
समय बीतता गया, यह बात पुरानी हो गई।
मंदिर का ट्रस्टी फिर बदल गया।
नए ट्रस्ट को नया मंदिर बनाने के लिए दान की जरूरत थी।
मन्दिर के नए ट्रस्टी को विचार आया सबसे पहले उस फैक्ट्री के मालिक से बात करके देखते हैं..
ट्रस्टी मालिक के पास गया सात लाख का खर्चा है। फैक्ट्री मालिक को बताया।
फैक्ट्री के मालिक ने कोई सवाल किए बिना एक खाली चेक ट्रस्टी के हाथ में दे दिया। और कहा चैक भर लो ट्रस्टी ने चैक भरकर उस फैक्ट्री मालिक को वापस दिया। फैक्ट्री मालिक ने चैक को देखा और उस ट्रस्टी को दे दिया।
ट्रस्टी ने चैक हाथ लिया और कहा सिग्नेचर तो बाकी है।
मालिक ने कहा मुझे सिग्नेचर करना नहीं आता है,
लाओ अंगूठा लगा देता हूं, ..वही चलेगा …’
यह सुनकर ट्रस्टी चौंक गया और कहा, “साहब तुमने अनपढ़ होकर भी इतनी तरक्की की, यदि पढ़े-लिखे होते तो कहां होते …!!!”
तो वह सेठ हंसते हुए बोला,
‘भाई, मैं पढ़ा-लिखा होता तो बस मंदिर में घंटा बजाते होता’
इस प्रेरक किस्से में घंटा बजाने वाले व्यक्ति का भक्ति भाव दर्शनीय व अनुकरणीय है.

अब बात प्रेरक व रोचक सुर्खियों की. अनेक सुर्खियां ऐसी होती हैं, जो एक झलक मात्र से इतना गज़ब संदेश दे जाती हैं, कि हम दंग भी रह जाते हैं और अनेक ने विचारों का सृजन करने की प्रेरणा भी पा जाते हैं. अब देखिए न- एक सुर्खी आई-

”एक्सपायर्ड दवाओं से बनाई मां दुर्गा की प्रतिमा”

यह सुर्खी प्रेरक भी है और रोचक भी. श्रद्धा प्रकट करनी है, तो एक्सपायर्ड दवाओं से भी मां दुर्गा की प्रतिमा बनाई जा सकती है. न पर्यावरण को खतरा और एक नया विचार भी, जो अनेक नए विचारों को जन्म दे सकता है.

Dussehra 2020: पूरे देश में दशहरा की धूम, कहीं शस्त्र पूजा तो कहीं वर्चुअल हो रहा रावन दहन

एक्सपायर्ड दवाओं से बनाई मां दुर्गा की प्रतिमा

सेफ दशहरा, हैप्पी दशहरा

भरतनाट्यम और हिप-हॉप को मिक्स कर लड़कियों ने किया दिल नाच उठने वाला डांस

लड़के ने बुजुर्ग दादी के साथ किया ऐसा गरबा कि दिल हार जाओगे

एक ही गाने पर दो डांस फॉर्म पर डांस करना सबसे मुश्किल काम होता है। लेकिन हाल ही में दो महिलाओं ने ये काम किया। उन्होंने एक इंग्लिश सॉन्ग पर हिप-हॉप (Hip-Hop) के साथ-साथ भरतनाट्यम को मिक्स किया था.

सिलबट्टे बेचने वाली महिला बनी सब-इंस्पेक्टर? IPS ने शेयर की कहानी

गई नौकरी, जिस स्कूटी से ऑफिस जाते थे उसी पर खोला ढाबा, दोस्त को भी दी नौकरी

87 साल के डॉ. 10Km नंगे पैर साइकिल चलाकर जाते हैं गरीबों का इलाज करने

Coronavirus In India: …तो क्या भारत में धीमी पड़ गई कोरोना की रफ्तार, 98 दिन बाद सबसे कम मौतें

बेटे ने जिन बाबा का हाथ तोड़कर घर से निकाल दिया था, वो चाय बेचकर रोजी रोटी चला रहे हैं।

10Ft लंबे अजगर ने महिला के पैर को जकड़ लिया, फिर हुआ ये!

मनीषा केलकर ने महिंद्रा की ऑल न्यू थार पेश की

Bigg Boss 14: नोरा फतेही का यह डांस स्टेप करने में छूटे घरवालों के पसीने, सलमान बोले- ये करवा रही हो?

कपिल देव को मिली अस्पताल से छुट्टी, चेतन शर्मा ने ट्वीट कर दी जानकारी

IPL: पिता के निधन के बावजूद मंदीप सिंह ने खेला मैच, जीतने के बाद शेयर किया इमोशनल मेसेज

सरकार ने दिया दखल तो गिर गए प्याज के दाम, जानिए अब क्या हो गई नई कीमत

मन की बात में PM मोदी की अपील-त्योहार पर मर्यादा में रहें, सैनिकों के लिए एक दीया जलाएं

एक भारत श्रेष्ठ भारत अभियान आज से शुरू: जानें इसके बारे में सब कुछ

रोड शो की प्रेरक व रोचक सुर्खियों को देखते-पढ़ते आपके पास भी कुछ प्रेरक व रोचक सुर्खियां आ गई होंगी. आप उन्हें कामेंट्स में हमारे साथ शेयर कर सकते हैं. इन बायोस्कोप सुर्खियों की खासियत यह है, कि आप इन्हें देख-पढ़कर ही आनंद भी पा सकते हैं और ज्ञान बढ़ाकर कुछ सीख भी सकते हैं.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।

One thought on “रोड शो- 10 : बातें प्रेरक व रोचक सुर्खियों की

  1. ”एक्सपायर्ड दवाओं से बनाई मां दुर्गा की प्रतिमा”
    यह सुर्खी प्रेरक भी है और रोचक भी. श्रद्धा प्रकट करनी है, तो एक्सपायर्ड दवाओं से भी मां दुर्गा की प्रतिमा बनाई जा सकती है. न पर्यावरण को खतरा और एक नया विचार भी, जो अनेक नए विचारों को जन्म दे सकता है.

Leave a Reply