हास्य व्यंग्य

फ्राइडे

क्या ‘अंडे’ के अंदर में मुर्गे का ‘वीर्य’ होते हैं!

मेरा सवाल है-
1.) ‘अंडा’ शाकाहारी है या मांसाहारी !
2.) ‘वीर्य’ शाकाहारी है या मांसाहारी !
एक अलहदा जवाब है-
अंडे खानेवाला ‘अंडाहारी’ है, तो ‘वीर्यहारी’ भी होते हैं क्या ?
तो फिर क्या ?
मुर्गे-मुर्गी को भी आनंद आते हैं ! अगर हाँ, तो बिल्कुल वह मानव सदृश्य है! अगर वीर्य ‘मांसाहार’ तत्त्व है, तो मांसाहार वीर्य से शाकाहार संतान हो सकता है क्या ? वीर्य व बीज बिना कुछ संभव है क्या?
निष्कर्ष-
किसी ने अच्छा ही कहा है, अगर आप शुक्रवार को ‘अंडा’ खरीदते हैं, तो आपको ‘अमलेट’ बनाने की जरूरत  ही  नहीं पड़ेगी, यह  तो  स्वत:  बन  जाएगी, क्योंकि  शुक्रवार को ‘फ्राइडे’ भी कहा जाता है ! हा हा हा….

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply