कविता

जो पास है

जो पास है वो सिर्फ आज है
भूत भविष्य तो बस
मन का एक ख़्वाब हैं।
आज मे ही जीना है तुम्हें
कुछ और नहीं सोचना है तुम्हें।
अभी के इस पल को
जी भर के तुम जी लो।
भूत भविष्य की चिंता को
अब तुम्हें हैं छोडना।
बाद में वरना तुम पछताओगे
जब कुछ नहीं कर पाओगे।
खुशियों को ढूंढते तुम रह जाओगे
खाली हाथ तुम अपने को पाओगे।
इसीलिए…
जो पास हैं वो सिर्फ आज है
ज़िन्दगी का यही पल तुम्हारे पास है।

श्रीयांश गुप्ता

परिचय - श्रीयांश गुप्ता

पता : श्री बालाजी सलेक्शन ई-24, वैस्ट ज्योति नगर, शाहदरा, दिल्ली - 110094 फोन नंबर : 9560712710

Leave a Reply