संस्मरण

‘झिलमिल जुगनूँ’ के संपादक

हिंदी में गणित अन्वेषण के क्रम में प्रो. विनय कुमार कंठ सर से मेरी पहली मुलाकात हुई थी । उनके अध्ययनार्थी के साथ – साथ मैं सर जी द्वारा संपादित ‘ज्ञान विज्ञान’ और ‘झिलमिल जुगनूँ’ में लेखक और सम्पादन सहयोगी भी था । मेरे कई गणितीय आलेख इनमें छपा भी है।

‘ईस्ट एंड वेस्ट एजुकेशनल सोसाइटी’, नाला रोड, पटना के सम्प्रति सामान्य ज्ञान पढ़ा है और वहीं पत्रिकाओं के कार्यालय में जाकर प्रूफ़ भी किया है । पटना विश्वविद्यालय के प्राध्यापक रहे कंठ साहब ‘गणितज्ञ’ भी थे । उत्तर भारत के प्रख्यात शिक्षाविद और एतदर्थ उन्होंने कई पुरस्कार प्राप्त किए थे।

माननीय नीतीश जी उनसे गाहे-बगाहे मशविरा भी किया करते थे । पिछले सप्ताह ही पटना विश्वविद्यालय के अवकाशप्राप्त शिक्षक प्रो0 सुरेंद्र स्निग्ध की पहली पुण्यतिथि रही । शुभदिन [25 दिसम्बर व क्रिसमस दिवस] को हमने कंठ साहब को खो दिया । दिल्ली पुलिस के पूर्व प्रमुख श्री आमोद कंठ उनके बड़े भाई हैं।

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply