कविता

भाषा का डॉक्टर

भारत में धर्म की

कोई कमी नहीं !

यहाँ लोगो को

रोटी चाहिए  !

विवेकानंद कहिन ।

××××

मज़हब वही सिखाता,

आपस में वैर रखना;

जिस ओर सर किसी का,

उस ओर पैर रखना !

××××

शिक्षक-संघ सरकार से

रजिस्टर्ड हैं,

जिनके आह्वान पर

सदस्य-शिक्षक हड़ताल पर….

प्राथमिकी अगर हो तो

संघ पर हो,

शिक्षकों पर प्राथमिकी

अनुचित है !

××××

हम उम्मीदवार या व्यक्ति आधारित

वोटिंग करें,

देश में सभी राजनीतिक पार्टियाँ

अपने-आप

समाप्त अथवा विलुप्त हो जाएँगी !

××××

मैं हूँ “भाषा का डॉक्टर” ! 

हर विचारों, सिद्धांतों का

‘पोस्टमार्टम’ करता हूँ

और 

नए-नए विचारों पर

कार्य करता हूँ !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply