राजनीति

हरी झंडी, जीती झंडी !

अंतिम राउंड के मतदान के बाद गुजरात और हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में जैसी ‘एग्जिट पोल’ की रुझान आई थी, कमोबेश मतगणना – परिणाम वही रहे । हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की सरकार की करारी हार हुई, तो श्री नरेन्द्र भाई मोदी के प्रधानमंत्री पद पर चयन होने पर और एतदर्थ गुजरात के मुख्यमंत्री पद से दिए इस्तीफे के बाद गुजरात में हुई पहली विधानसभा चुनाव के परिणाम भी प्रत्याशित ही रहे । मतगणना में सुबह के रुझान बीजेपी-कांग्रेस में काफी टक्कर लिए थे कि दोनों पार्टी के मतदाता – जनार्दन अपनी दाँतों तले ‘नाखून’ कुतर रहे थे ! कभी लगा युवराज राहुल गाँधी की अध्यक्षीय – ताजपोशी गुजरात में फलदायी न हो जाय, किन्तु दिन चढ़ते ही नरेंद्र भाई के विकासात्मक नेतृत्व के असली सूत्र विकास की पिटारी से निकले कि कांग्रेस और हार्दिक पटेलनुमाई लोग तीनों खाने चित्त हो गए । चारों खाने इसलिए नहीं, क्योंकि गुजरात में कांग्रेस 2012 की तुलना में कुछ सीटें ज्यादा निकाले हैं, वहीं बीजेपी को कुछ सीटों का नुकसान हुआ है, जो कि लंबी पारी के प्रत्याशित है, ऐसा संभव है । बावजूद गुजरातवासियों ने अपने नरेंद्र भाई पर ‘अय्यर के असंसदीय बोल’ का बदला ले लिये हैं और पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता पुनः बीजेपी को सौंप दिए हैं । कुछ नुकसान को सकारात्मक तरह से देखना चाहिए कि अपनी खामियों पर दृष्टिपात कर बीजेपी शासन और भी मजबूती से जनता की सेवा करेंगे । हिमाचल में कांग्रेस तो बीजेपी को प्राप्त सीटों से लगभग आधी रह गई है, यहाँ बीजेपी ने लगभग दो तिहाई बहुमत हासिल की है । दोनों जगह कमल खिलखिलाए हैं, तो क्या यह केंद्र में ‘कमल’ के लिए 2019-2024 हेतु फिर से ‘हरी झंडी’ समझा जा सकता है ?

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply