भाषा-साहित्य

एक सदाबहार अभिनेता

हिंदी अभिनेता व पूर्व सांसद गोविंद वल्लभ आहूजा उर्फ़ गोविंदा ! सन 1977 में जब वे सिर्फ 14 वर्ष के थे, तो उनकी पहली फ़िल्म आयी थी, फिर पीछे मुड़े नहीं ! अब तो फ़िल्म अभिनेता गोविंदा के फिल्मों की संख्या 175 से अधिक हो गई है, जिनमें हिंदी सहित कई भाषाओं के फ़िल्म शामिल है । वे एक समय सुपर स्टार थे और फ़िल्म चलने की गारंटी होते थे !

वे राजकुमार, अमिताभ बच्चन जैसे फ़िल्म दिग्गजों के साथ भी कार्य किये । हास्य और एक्शन अभिनेता की छवि लिए वे सामाजिक किरदार भी बखूबी निभाये ! इधर एक-दो सालों उनकी कोई फ़िल्म नहीं आयी है । अपनी पुत्री नर्मदा को बतौर अभिनेत्री के प्रसंगश: उनकी कॅरियर सँवारने में लगे हैं!

वर्ष 2004 में कांग्रेस की शरण में आये तथा भाजपा के शालीन व कद्दावर चेहरा एवं कई बार सांसद रहे श्री राम नाईक को हराकर सांसद बने, किन्तु अभिनेता को नेता बनना रास नहीं आता है, वे भी ‘नेता’ पद से विमुख हो गए !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply