कविता

बाध्यता के बीच

कई-कई जगह
पशु-शृंखला भी
देखने को मिले,
खासकर
“बोतु शृंखला”
••••
जब गुरु द्रोण नहीं मिले,
तब एकलव्य ने खुद के भीतर
टैलेंट पैदा करके
क्या बुराई की ?
क्या खुद की प्रतिभा को
बाहर निकालना अपराध है?
••••
टैलेंट की यहाँ पहचान
कहाँ हो रही है ?
सिरफ़….
सुंदर कपड़े,
मकान, गुंडई
और तमाशा
करनेवाले को ही
लोग पहचान रहे हैं !
••••
बिहार मानव शृंखला,
19.01.2020
क्या ‘काठ की हाँड़ी’
बार-बार चूल्हे पर
नहीं चढ़ पायी ?
••••
हमारे कुछ शिक्षक मित्र
‘दोमुँहे साँप’ हैं !
गाँव में
ऐसे विशेषज्ञ व्यक्ति को
क्या ‘भड़ुवे’ कहा जाता है ?
••••
मनिहारी, अमदाबाद में
असफल रही
“मानव शृंखला” !
सिर्फ़ आधे घण्टे में
जनता की गाढ़ी कमाई के
करोड़ों राशि
‘सरकारी खजाने’ से फुर्र..
••••
बिहार मानव शृंखला,
19.01.2020
एक स्वैच्छिक
सामाजिक अभियान है,
शिक्षक-कर्मी को
इस हेतु ‘बाध्य’ करना
‘मानवाधिकार’ का उल्लंघन है !
••••
बिहार के एकमात्र सक्रिय
गिनीज़ होल्डर
और मानव शृंखला को
लिम्का बुक तक
पहुँचानेवाले को
शासन-प्रशासन की ओर से
सम्मान न देना अपमान है!
••••
सच है,
जहाँ प्रेम है,
वहीं नाखुशी भी है !
सुप्रभात,
शुभ दिवस मित्रो !
••••
स्वतंत्रता दिवस
और गणतंत्र दिवस में भी
विद्यालय-कार्यालय
खुले रहते हैं,
पर ‘हाज़िरी’ नहीं बनती;
पर मानव शृंखला में
जबरदस्ती क्यों?
••••
जिसे क्षतिपूर्त्ति नहीं चाहिए,
उस कर्मी-शिक्षक को भी
रविवार को स्वैच्छिक मानव शृंखला में
उपस्थिति के लिए
प्रधानाध्यापक को
बाध्य कर रहे हैं !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply