समाचार

रमा शर्मा के सम्मान में काव्य गोष्ठी

10 दिसंबर शुक्रवार को, अंतस् की 29वीं काव्य गोष्ठी का आयोजन सुश्री रमा शर्मा के सम्मान में, निगम पार्षद, गुंजन गुप्ता के कार्यालय, विज्ञान विहार, दिल्ली में किया गया। अनेक स्थापित व नवोदित कवियों ने काव्य पाठ किया। संस्था अध्यक्ष डॉ पूनम माटिया ने बताया, “आयोजन में अभी हाल ही में हेलीकाप्टर हादसे में शहीद हुए सैन्य अधिकारियों तथा सी डी एस जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि देते हुए शब्द-पुष्प अर्पित किये गए| आयोजन उत्कृष्ट रहा।बहुत अच्छा पढ़ा गया।अच्छे से सुना गया।सम्मान समारोह के पल भी सहेजनीय रहे। अंतस् की ओर से मुख्य अतिथि रमा शर्मा जी , अन्तर्राष्ट्रीय सचिव अंतस्, अध्यक्ष, जापान सांस्कृतिक केंद्र, संपादक, हिन्दी की गूँज पत्रिका, को प्रशस्ति पत्र, शाल और पुष्पहार इत्यादि से सम्मानित किया गया। विशिष्ट अतिथि सुश्री गुंजन गुप्ता को भी प्रशस्ति पत्र, शाल इत्यादि से सम्मानित कर धन्यवाद ज्ञापित किया गया। अध्यक्ष डॉ आदेश त्यागी तथा विशिष्ट अतिथि वंदना कुंवर रायज़ादा जी, सुश्री नमिता जोशी , उपाध्यक्ष अंतस् तथा उपस्थित सभी सम्मानित कवि-कवयित्रियों को भी सम्मान प्रदान किया गया।“
कृष्ण बिहारी शर्मा जी की सरस्वती वंदना से शुभारम्भ हुआ। सभी मंचस्थ व अन्य अतिथियों द्वारा वागीश्वरी को पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्ज्वलित किये गए।
गीत, ग़ज़ल, मुक्तक, माहिये, छंदमुक्त कविता इत्यादि काव्य की विभिन्न विधाओं के साथ-साथ लुप्त-पर्याय विधा लोरी का रसास्वादन भी श्रोताओं ने किया।
आदेश त्यागी, पूनम माटिया, वन्दना कुंवर रायज़ादा, सत्येंद्र जैन सरस, दानिश अय्यूबी, दुर्गेश अवस्थी, कृष्ण बिहारी शर्मा, रमा शर्मा, कामना मिश्रा, रीता अदा, कीर्ति रतन सिंह, सुनीता अग्रवाल, नईम अहमद हिंदुस्तानी ने रोचक काव्य प्रस्तुतियाँ दीं।
गुंजन गुप्ता ने भी अपने उद्बोधन में काव्य रस की चाशनी घोली।साथ ही देह-दान की महत्ता और आवश्यकता पर ज़ोर दिया|
सम्मानित मुख्य अतिथि रमा शर्मा ने अहिन्दी राष्ट्र जापान ने अपने हिन्दी के प्रति अपने समर्पण का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रवासी भारतीयों में हिन्दी के प्रति प्रेम कम नहीं”|
काव्य रसिक निर्दोष शर्मा ने अंतस् के प्रयासों को सराहते हुए साहित्य प्रेमी मंडल के प्रतिनिधि की भूमिका का वहन किया।
आद्योपान्त सुगठित, रोचक संचालन पूनम माटिया ने किया। अंतस् की गतिविधियों की सराहना करते हुए उत्सव-अध्यक्ष आदेश त्यागी ने समीक्षात्मक प्रतिक्रिया दी|
विज्ञान विहार आर डब्ल्यू ए की प्रधान मधुर बंसल, गुंजन गुप्ता की माता जी किरण गुप्ता, वीर अर्जुन के संवादाता शिवा कौशिक तथा अन्य सुधि श्रोताओं की उपस्थिति ने अंत तक गोष्ठी की गरिमा को बनाये रखा। अंत में औपचारिक धन्यवाद कामना मिश्रा ने ज्ञापित किया|

Leave a Reply