गीत/नवगीत

फैशन

फैशन की खातिर देखो भैया बुद्धि भ्रमित बेचारी है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

चाहे जितने कपड़े हों, जूते हों ‌ज्वेलरी हो या गाड़ी हो
कितने ही भरे हों वार्डरोब में पर नए लेने की तैयारी है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

नित नए ब्रांड की धूम मची है ऊंचे शोरूम और मालों में
बाय टू गेट वन सेल लगी है ‌ जेब कटाने की तैयारी है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

लहंगा क्राप टाप हो गया इन धूम मचा रहा पार्टी गाउन
ढेरों साड़ियां अलमारी की बढ़ाती शोभा न्यारी है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

नई जींस को काट छांट कर पहनते 70 पैबंद लगा कर
अजब गजब यह ढंग तो देखो भिखारियों से कंपटीशन भारी है

फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

कुछ अलग दिखाने की चाहत में बालों में सड़क बनाई है
लड़कियां तो हुई ब्वाय कट लड़कों की चोटी लहराई है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

फुल बॉडी में टैटू सजा के पैजामा को प्लाजो बनाके
रोज नए नए स्वांग रचा के फैशन डिजाइनर्स की खुली लॉटरी है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

सबका होता कुछ स्टाइल यूनिक बॉलीवुड हो या राजनीति
पड़ता जन-मानस पर ‌‌इनका प्रभाव
नकल के प्रति बढ़ता झुकाव साधना कट स्टाइल की हुई मांग

नेहरू जैकेट हुआ पॉपुलर ब्रांड
गांधी टोपी और खादी पर हो गई सारी जनता बलिहारी है
फैशन के पीछे हुई बावली भागे दुनिया सारी है ।।

फैशन में है कुछ नहीं बुरा यह तो है बदलाव भला
यदि शालीनता और फैशन का हो जाए संगम
तो बढ़ाएं आत्मविश्वास भारी है फैशन के पीछे हुई बावली
भागे दुनिया सारी है
फैशन की खातिर देखो भैया बुद्धि भ्रमित बेचारी है ।।

— सुधा अग्रवाल