हाइकु/सेदोका

हाइकु-लता जी

स्वरकोकिला
मां सरस्वती  पुत्री
कंठ भारती।

++
संघर्ष भरा
जीवन था जिसका
निखरा सोना।
++
हार न मानी
हृदयनाथ लाड़ली
सुरोंस्व