हाइकु/सेदोका

हाइकु

१. अभिनंदन
     बदल गया अर्थ
     अभिनंदन
२. वो नियंत्रण
    यें प्रत्यक्षीकरण
    पवन पुत्र
३. नहीं हो अब
    नियंत्रण रेखा पे
    वो नियंत्रण
४. अंतःकरण
    पिघल गया आज
    लौह पुरुष
५. महा संग्राम
    सरहद पे रण
   होगा भीषण
— मनोज शाह मानस