बाल कविता शिशुगीत

कोआला


ऑस्ट्रेलिया में मिलता हूं,
वृक्षों पर मैं रहता हूं,
स्तनधारी जंतु हूं मैं,
नमी पसंद मैं करता हूं.
बच्चों-बुजुर्गों को प्यारा हूं,
आनंद का मैं पिटारा हूं,
मुझको गोद में सब लेते हैं,
शाकाहारी न्यारा हूं.

कोआला (Koala) ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला एक वृक्षों पर रहने वाला, शाकाहारी धानीप्राणी (मारसूपियल​) है। यह ‘फ़ैसकोलार्कटिडाए’ (Phascolarctidae) जीववैज्ञानिक कुल का इकलौता सदस्य है जो अभी तक विलुप्त नहीं हुआ है। यह पूर्वी और दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया के तटवर्ती क्षेत्रों में मिलता है लेकिन ऐसे भी अंदरूनी इलाक़ों तक विस्तृत है जो अधिक शुष्क नहीं हैं। २०वीं सदी में दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के अधिकतर कोआला मार दिए गए थे लेकिन फिर इन्हें विक्टोरिया से लाकर यहाँ पुनर्स्थापित कर दिया गया।
इसकी उंगलियों के निशान मनुष्य से मिलते-जुलते हैं