स्वास्थ्य

भंवर काले जामुन

बरसात का मौसम है बाजार में ठेलों पर जामुन लगे बिक रहे हैं. जमुनों को देखकर कानों में आवाज गूंज उठी ले लो ले लो काले काले भंवर काले जामुन.कुल्हड़ में जामुन और उसके ऊपर नमक डाल कर जो जोरदार हिलाकर ढाक के  पत्ते पर दिए गए जामुन खाए थे , वैसे तो अब नही मिलते खाने को. उनका तो जायका ही कुछ और होता है.
लेकिन आज मैं जामुन लाया तो मैंने उन्हें गिलास में डाल और नमक छिड़क कर खूब हिलाकर कटोरी में जो खाए तो वही पुराना स्वाद याद आ गया.
जामुन स्वास्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है जिनकें कुछ फायदे आपसे यहां चर्चा करता हूं

जामुन में आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेड भरपूर मात्रा में होते हैं. जामुन का सिर्फ फल ही नहीं, इसके पेड़ की छाल, पत्तियां और फल की गुठली भी बहुत फायदेमंद होती है.

1. पिंपल्स दूर करने में असरदार 
बढ़ते स्ट्रेस, हॉर्मोनल डिस्बैलेंस और जंकफ़ूड के सेवन की वजह आजकल पिंपल्स होना एक आम समस्या हो गयी है. जामुन के रस का उपयोग पिंपल्स को कम करने किया जाता है.जामुन या इसकी पत्तियों के रस को स्किन पर लगाने से ये स्किन पर बढ़ते हुए ऑइल और सीबम के सेक्रेशन को रोकता है.इससे पिंपल्स की समस्याओ में आराम मिलता है.
2. रक्त को शुद्ध करे  
जामुन की छाल एक ब्लड प्यूरीफायर है जो आपके खून को अंदर से साफ करते हुए स्किन का बाहर से ख्याल रखती है अगर  खून प्यूरीफाइड हो तो  मेटाबॉलिज्म अच्छा रहता है और स्किन खूबसूरत नजर आती है.
3. आंखों के लिए जामुन के फायदे 
जामुन के 15-20 मुलायम पत्तों को 400 मिली पानी में पका लें. जब यह काढ़ा एक चौथाई बच जाए, तो इसे ठंडा करके इससे आंखों को धोएं.इससे आंखों की समस्या जैसे आंखों में जलन,कीचड़ आना और दर्द में लाभ होता है.
4. कान के रोग में जामुन के फायदे 
कानों में  कभी-कभी घाव होने पर या अन्य कारणों से कान से पस निकलने लगता है. इसके लिए जामुन की गुठली को पीसकर शहद में मिला लें. इसकी 1-2 बूंद कान में डालने से कान का बहना, कान में दर्द आदि बन्द हो जाता है.
5. दांत दर्द के लिए जामुन के फायदे
दांत का दर्द आजकल बेहद कॉमन है.जामुन का स्वाद और तासीर कसैली होती है. इसका उपयोग दांतों की समस्या से आराम दिलाने के लिए फायदेमंद होता है. इसके लिए जामुन के पत्तों को जलाकर उसकी राख बना लें. इसे मंजन की तरह दांत और मसूड़ों पर मलने से दांत और मसूड़े स्ट्रॉन्ग होते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं, जामुन के पके हुए फलों का रस निकाल लें और इससे  कुल्ला करें। ऐसा करने से पाइरिया ठीक होता है.
6. मुंह के छालों में जामुन के पत्तों का उपयोग  
पेट के गर्म होने, बढ़ने या खानपान में बदलाव के कारण अक्सर लोगों को मुंह के छालों की समस्या से गुजरना पड़ता है. जामुन के पत्तों के रस से कुल्ला करने पर मुंह के छालों में आराम होता है.जामुन की कसैली तासीर छालों की लाली और इनसे होने वाले दर्द को कम करते हैं. इसके साथ ही जामुन गले में होने वाले दर्द और गले की अन्य समस्याओं से आराम दिलाने  बहुत फायदेमंद है. 10-15 मिली जामुन के फल के रस का नियमित सेवन गले की समस्याओं से भी आराम दिलाता है.इसके अलावा, गले के दर्द में 1-2 ग्राम जामुन के पेड़ की छाल के चूर्ण का सेवन शहद के साथ करना फायदेमंद होता है.
7. जामुन दिलाए डिसेंट्री से आराम 
पेचिश में भी  जहां मल के साथ खून आने लगता है, जामुन की छाल का रस निकाल लें और इसे बराबर मात्रा में बकरी के दूध के साथ पीने से डिसेंट्री में आराम मिलता है.
इसके अलावा जामुन के पेड़ की 10 ग्राम छाल को 500 मिली पानी में पकाएं. जब यह एक चौथाई बच जाए तो पिएं. इससे भी डिसेंट्री में आराम मिलता है. यह काढ़ा 20-30 मिली की मात्रा में दिन में 2 से 3 बार पीना चाहिए. ये पेट से जुडी समस्याओं के लिए बहुत फायदेमंद है.
8. बवासीर या पाइल्स में फायदेमंद जामुन 
पाइल्स होने पर जामुन के फूलों के 20 मिली रस में थोड़ी-सी शक्कर मिला लें. इसे दिन में तीन बार पीने से पाइल्स से बहने वाला खून बन्द हो जाता है.

इसके साथ ही 10 ग्राम जामुन के पत्तों को 250 मिली गाय के दूध में अच्छे से मिलाकर पीना भी पाइल्स की समस्या दूर करने में असरदार साबित होता है. लगातार सात दिनों तक दिन में 3 बार पीने से बवासीर में बहने वाला खून बन्द हो जाता है.
9. पथरी का इलाज करे जामुन 
कहा जाता है कि पके हुए जामुन के फल को खाने से पथरी गल कर निकल जाती है. इसके साथ ही जामुन के 10 मिली रस में थोड़ा सा सेंधा नमक मिला लें. कुछ दिनों तक दिन में 2-3 बार रोज पीने से यूरिनरी ट्रैक में फंसी हुई पथरी टूटकर पेशाब के साथ बाहर निकल जाती है.
10. डायबिटीज के इलाज में जामुन 
बहुत सारी स्टडीज बताती हैं कि जामुन में हाइपोग्लाइसिमिक गुण पाए जाते हैं.इसका नियमित सेवन ब्लड शुगर को 30% तक कम करने में फायदेमंद साबित होता है. जामुन के बीज में अल्केलॉइड्स होते हैं जो ब्लड सुगर घटाने में मददगार साबित होते हैं. जामुन की गुठली के पाउडर का सेवन डायबिटीज की समस्या से आराम दिलाने और ब्लड शुगर को कम करने में मददगार होता है.