कविता

अहमियत

शिक्षा की अहमियत को जानों
गुरू की ज्ञान वाणी को पहचानों
जीवन की दर्शन है यह     अपना
पूरा करता है जीवन का हर सपना

वेद पुरान में है दर्शन इस जीवन का
पढ़ना इसे दर्पण अपने  दर्शन     का
जिस ने रामायण गीता को है अपनाया
जीवन में वह मानव सफलता है  पाया

शिक्षा की दान महान है      काम
ज्ञानी ही देता है ज्ञान को  सम्मान
ज्ञान बाँटने से कभी ना है घटता
दिन दुना रात चौगुना ज्ञान बढ़ता

गुरू को जीवन में देना है अहमियत
जाति ना देख देखो गुरू की नीयत
गुरूदेव है गुणों की ज्ञान की खान
हासिल कर गुरू को कर  प्रणाम

जीवन पथ का है पथ प्रर्दशक
जग में हैं ये महान निर्देशक
गुरूजन को है सदैव सम्मान
गर पाना है जीवन में मुकाम

— उदय किशोर साह

उदय किशोर साह
पत्रकार, दैनिक भास्कर जयपुर बाँका मो० पो० जयपुर जिला बाँका बिहार मो.-9546115088