राजनीति

झाड़ू का जादू चल ही गया

बीती 4 दिसंबर को 250 सीटों के लिए हुए दिल्ली नगर निगम चुनाव के नतीजे 7 दिसंबर 2022 को आ गए हैं जिनके मुताबिक, आम आदमी पार्टी ने 134 सीटों के साथ बहुमत हासिल कर जीत दर्ज की ,वहीं भारतीय जनता पार्टी 104 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रही और कांग्रेस को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
गौरतलब है कि पिछले 15 वर्षों से दिल्ली नगर निगम में बीजेपी का शासन रहा है, परंतु इस वर्ष 2022 के दिल्ली नगर निगम चुनाव में जनता ने बीजेपी को न चुनकर आम आदमी पार्टी को बहुमत से जीत हासिल करवाई है और दिल्ली को अरविंद केजरीवाल के हाथों में सौंप दिया है। आम आदमी पार्टी की शानदार जीत पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली की जनता का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया है जिन्होंने उन पर ,उनकी पार्टी पर अपना विश्वास दिखाया और काम करने का मौका दिया। केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से वायदा किया कि वे उनका भरोसा कभी टूटने नहीं देंगे और दिल्ली को एक स्वस्थ ,समृद्ध और सशक्त राज्य बनाने की दिशा में पुरजोर कोशिश करेंगे। केजरीवाल ने इस जीत को केवल जीत न बताकर एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का नाम दिया है जिसके निर्वहन हेतु उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग के बिना वे इस जिम्मेदारी को भली प्रकार नहीं निभा पाएंगे।
चुनावों के नतीजों से एक बात तो साफ हो ही गई है कि आखिर झाड़ू का जादू चल ही गया ।अब देखना यह है कि यह झाड़ू दिल्ली की सफाई पहले से बेहतर करती है अथवा नहीं, किस प्रकार यह झाड़ू दिल्ली के स्तर को पहले से ऊर्जा उठाती है और दिल्लीवासियों को खुद पर फक्र करने का मौका देती है। खुद दिल्लीवासी आम आदमी पार्टी की इस जीत में अपनी जीत देख रहे हैं और आम आदमी पार्टी पर भरोसा जताते हुए यह उम्मीद कर रहे हैं कि आम आदमी पार्टी के रूप में अब उन्हें एक नई दिल्ली मिलेगी, पहले से एक बेहतर दिल्ली मिलेगी जिसमें विकास कार्य गति पकड़ेंगे और दिल्ली की राजधानी वास्तविक अर्थों में राजधानी का स्वरूप पा प्रगति पथ पर अग्रसर हो पाएगी।
— पिंकी सिंघल
पिंकी सिंघल
अध्यापिका शालीमार बाग दिल्ली