Author :

  • हज़ल

    हज़ल

    चेहरे के हाव भाव, इनोसेंट चाहिए ब्वायफ्रेंड उनको डिफरेंट चाहिए। हसरतें भी यूँ शेष ना रहें कोई भी होनी डिमाण्ड पूरी, अर्जेंट चाहिए। हो रिच पर्सन ही ब्वॉयफ्रेंड उनका घूमने हेतु इनोवा-परमानेंट चाहिए। दारु संग सिगरेट...

  • नादान बहुत था

    नादान बहुत था

    जिससे मिलने के लिए मैं परेशान बहुत था,, उसके मिलने का ढंग देख मैं हैरान बहुत था। चाहतों के भंवर में फंस के डूब ही जाता मैं,, मुझे डुबाने हेतु उसके पास सामान बहुत था। वो...




  • हम कह ना पाए

    हम कह ना पाए

    लग रहा है जैसे तू मुझसे दूर जा रही है, तेरी यादें मुझमें एक डर सा जगा रही है। बीते लम्हों की बेचैनी मुझे रुला सी रही है, दिल की हर धड़कन तुझे बुला सी रही...

  • तेरी सोहबत का असर

    तेरी सोहबत का असर

    बड़ी मुश्किल है ये प्यार की डगर आई नहीं तुम आने का वादा कर खुश रहने की ख्वाहिश भी बची नही ख़ुदा जाने क्यों उदासी है इस क़दर । प्यास जगाई तूने,जिसमें झुलसता रहा मैं तुझे...

  • माँ शेरावाली

    माँ शेरावाली

    माँ दुर्गा तुम्हारी आरती मैं करूँ भक्ति के साथ चरणों में माथा धरें सबल,दुर्बल, दीन अनाथ। सुरों में सरगम सजा दो गीत दो झंकार दो माँ खड़ा हूँ कबसे ही किनारे मुझे मझधार दो माँ। खुशियाँ...

  • ढाई आखर

    ढाई आखर

    समझ ना पाया खुद को दर्द सभी मैं सहता हूँ , तुमने चकनाचूर किया अब भी तुम पे मरता हूँ। आराध्य समझ बैठा तुमको उम्र तुम्हारे नाम किया तुमको चाहा तुमको सोचा ना कोई दूजा काम...

  • तुम बिन डसता दिन

    तुम बिन डसता दिन

    तुझ बिन मेरा पहला-दिन, बेहद सूना-सूना निकला दिन। था सब कुछ पहले जैसा पर, मुझे लगा बदला-बदला दिन। हर पल तुझको ढूंढ़ रहा था, पागल सा मैं और पगला दिन। घोर उदासी के सन्नाटों में, गुजरा...