Author :

  • तेरी सोहबत का असर

    तेरी सोहबत का असर

    बड़ी मुश्किल है ये प्यार की डगर आई नहीं तुम आने का वादा कर खुश रहने की ख्वाहिश भी बची नही ख़ुदा जाने क्यों उदासी है इस क़दर । प्यास जगाई तूने,जिसमें झुलसता रहा मैं तुझे...

  • माँ शेरावाली

    माँ शेरावाली

    माँ दुर्गा तुम्हारी आरती मैं करूँ भक्ति के साथ चरणों में माथा धरें सबल,दुर्बल, दीन अनाथ। सुरों में सरगम सजा दो गीत दो झंकार दो माँ खड़ा हूँ कबसे ही किनारे मुझे मझधार दो माँ। खुशियाँ...

  • ढाई आखर

    ढाई आखर

    समझ ना पाया खुद को दर्द सभी मैं सहता हूँ , तुमने चकनाचूर किया अब भी तुम पे मरता हूँ। आराध्य समझ बैठा तुमको उम्र तुम्हारे नाम किया तुमको चाहा तुमको सोचा ना कोई दूजा काम...

  • तुम बिन डसता दिन

    तुम बिन डसता दिन

    तुझ बिन मेरा पहला-दिन, बेहद सूना-सूना निकला दिन। था सब कुछ पहले जैसा पर, मुझे लगा बदला-बदला दिन। हर पल तुझको ढूंढ़ रहा था, पागल सा मैं और पगला दिन। घोर उदासी के सन्नाटों में, गुजरा...


  • बहक जाता था

    बहक जाता था

    खिलता गुलाब थी, तू खिलता गुलाब है सूरत तेरी लाजवाब थी, लाजवाब है। तुझे देख के अक्सर बहक जाता था मैं मेरी आदत खराब थी, आदत खराब है। तू मीठे शहद सी थी, मीठे शहद सी...