Author :

  • रोटी की आस….

    रोटी की आस….

    राजनीति के गलियारे में, नेता जी का पालना झूल रहे है ठाठ से, प्रजातंत्र के राजनेता बिलख रही है भूख से, गरीब जनता की आत्मा मंत्री जी के डाइनिंग टेबल पर, भिनकता झूठा खाना रोटी पाने...

  • दिल की बात….

    दिल की बात….

    चाहती हूँ कहूँ दिल की बात तुमसे पर ठहर जाते है लवों पर आते-आते…. ये प्यार है मेरा जो चाहता तुम्हें दिलो-जान से….. हैं रहमत उस विधाता की जिसने तुम्हें लिखा मेरे नसीब में…… साथ मेरा...

  • शाम सुहानी….

    शाम सुहानी….

    बीती जा रही शाम सुहानी एक तेरे आने की आस दिल में लगी….. पलकों पे सज रही ख्वाब सुहानी चांदनी रातों में शुरू होगी अपनी प्रेम कहानी…… तुम चाँद और मैं चकोर तुम्हारी न हो कोई...

  • हमसफर

    हमसफर

    सुनो! मेरे हमसफर दिल की बात कहना है तुमसे मैं तो शून्य थी इस दुनियां से अनभिज्ञ थी तुमसे जुड़कर तुम्हे पाकर बनी मेरी इक पहचान जीवन के इस डगर पे थामा जो तुमने कसकर हांथ...

  • परिवर्तन

    परिवर्तन

    राजनीति की बात तो आज सभी करते है बड़े-छोटे जो भी हो लेखक रचनाकार लिख डालते है बड़ी आसानी से राजनीति से जुड़ी तमाम खामियों को लेकिन मेरे भाई बंधू…… सचमुच, अगर चाहते हो परिवर्तन लाना...

  • माँ

    माँ

    माँ, तू नहीं इस दुनियां में पर, तेरी यादें सदा मेरे साथ है तू, सिर्फ दिखती नहीं लेकिन मैं ये बात जानती हूँ माँ मरकर भी, अपने बच्चे से कभी जुदा होती नहीं तू है! यहीं...

  • मीत मेरे….

    मीत मेरे….

    मेरे मन के मीत हो तुम मेरे आँखों की तस्वीर हो तुम उम्मीदों का दीप जलाए ख्वाबों की तक़दीर हो तुम मन-मन्दिर की पूजा हो तुम मेरी प्रार्थना का स्वीकार हो तुम जो मिट न सके...

  • यादों का कारवां…

    यादों का कारवां…

    शाम ढ़लते ही तुम्हारे यादों का कारवां प्रेम की धुन में झूमता हुआ मेरे अंतस में समा जाता है और हौले से एक गुजारिश उस खामोश अँधेरी रात से समर्पित अपने लफ्ज़ो के साथ बस इतनी...

  • ऐ ज़िन्दगी

    ऐ ज़िन्दगी

    क्यों पल-पल इतना आजमाती है जिंदगी…. दर्द में भी देती है सजा मुस्कुराने की रोता है दिल हरपल उनकी यादों में फिर भी जमाने के सामने दिखाते है होठो पे हँसी क्यों पल-पल इतना आजमाती है...

  • पाकर तुम्हे….

    पाकर तुम्हे….

    वक़्त ने हमें बहुत गम दिए फिर भी हम मुस्कुराते रहे न चाहा कभी जिंदगी से ज्यादा कुछ जो मिला किस्मत से बस उसी में खुश रहना सिख लिए पर कहते है ना गम के साथ...