लघुकथा

भीगी पलकें

कैलाश अन्कल, कल रात को शादी में नहीं आए , प्रतीक्षा करती रही। फेसबुक वाट्सएप पर कार्ड भेजा तो था। पूजा बेटी फेसबुक पर लाइक कर दिया था। वाट्सएप पर भी  2000 ₹ के नोट की फोटो भेज कर उत्तर दे तो दिया था। स्वयं घर पर कार्ड देने के लिये आना चाहिए था। तब […]

पर्यावरण

आदर्श नदी

परमाणु बिजली घर सदैव रखते अपनी समीप की नदी का ध्यान। सबके पीने योग्य स्वच्छ निर्मल पानी है इन नदियों की पहचान। बिजली उत्पादन के बाद पानी नदी में विसर्जित करते पर तकनीकी मापदंडों का करते पालन। पर्यावरण सर्वेक्षण प्रयोगशाला परीक्षण कर सुनिश्चित करती नियमों का अनुपालन। परमाणु बिजली घर कालोनी के निवासी भी नहीं […]

लघुकथा

परिवर्तन

मैं जया। तुम सभी को आश्चर्य हो रहा है कि 15 मार्च को सभी मुझे जन्मदिन की बधाई देते रहे हैं फिर अब 27 मई को इस जन्मदिन की पार्टी का क्या मतलब है? स्पष्ट कर रही हूँ। शराबी एवं चरित्र हीन पति के अत्याचार ताने आरोप मानसिक तनाव की पराकाष्ठा मेरे पवित्र चरित्र पर […]

सामाजिक

पढ़ने में आत्मनिर्भरता

सरिता! स्नेह! शिक्षण संस्थान ट्यूशन कोचिन्ग बन्द होने के कारण तुम परीक्षा की तैयारी के लिए तनाव में हो। स्वयं पढ़ने का प्रयास करो। कोई भी काम पहली बार करने में मुश्किल होना स्वाभाविक है। एक पाठ को दो तीन बार पढ़ कर लिखो। नहीं लिख पा रही हो तो पुनः पढ कर लिखने का […]

संस्मरण

एक हैं अम्मा

अम्मा प्रणाम। जब तक तुम मेरे साथ रही तब तक मुझे मदर्स डे की जानकारी नहीं थी। तुमने  2010 में देह त्याग कर इस असार सन्सार को अलविदा कह दिया। दस वर्ष हो गए पर में अभी तक नहीं कह सका कि एक अम्मा थीं। मुझे महसूस होता है कि तुम अभी भी मेरे साथ ही […]

सामाजिक

कोरोना लाकडाउन में सकारात्मक कार्य

मनीषा घर के सारे कार्य बरतन सफाई पोछा स्वयं कर  अपना वज़न नियंत्रण में रख रही है। चन्द्र प्रकाश जी पोते को गणित पढा रहे हैं। मालती बच्चों के साथ केरम लुडो खेलती हैं। कमल ने घर के अव्यवस्थित बगीचे की सफाई कर पौधों को नव जीवन दे दिया है। रुचि ने मम्मी से खाना […]

लघुकथा

सारी अन्कल

दिलीप अन्कल नमस्कार। सारी। इस लाकडाउन समय में आपके टिप्स काम कर रहे हैं। फास्ट फुड कम खाइए, घर में मम्मी के हाथ का बना भोजन ही सबसे अच्छा होता है, जन्मदिन की पार्टी में अनावश्यक खर्च कर दिखावा मत करिए, घर के पौधों में पानी नियमित दीजिए, कुछ समय दादा दादी के पास बैठकर […]

कविता

रक्तबीज कोरोना

बहुत कुछ सीख दे रहा रक्तबीज कोरोना। मिल जुलकर प्यार से घर में ही रहना। रिश्तों की सुध लेते रहना। घर के बडो को भी कुछ समय देना। बच्चों के साथ बच्चा बनकर खेलते रहना। स्कूल बंद हैं पर घर पर ही पढते रहना। अलमारी से निकालकर कोई किताब पढते रहना। सूखते पौधों की भी […]

लघुकथा

अच्छों की चुप्पी से दुनिया बुरी है

अपराजिता बेटी स्नेह। तुम्हारी पीड़ा कष्टदायक है। ससुराल में दुर्व्यवहार आरोप ताने शारीरिक यातना मानसिक चोट आर्थिक संकट भेदभाव पीहर पक्ष पर कटाक्ष से तुम टूट रही हो एवं इतने बड़े परिवार में तुम अकेली स्त्री बस सोचती रहती हो कि तुम किस कन्धे पर सिर रखकर रो लो। अपमान के घुटन की पराकाष्ठा झेलने […]

लघुकथा

लीक से हटकर

बेटी के जन्मदिन की पार्टी में बुलाने के लिए फोन एवं सन्देश में अतिथियों को स्पष्ट सूचित कर दिया कि उपहार स्वीकार नहीं किए जाएंगे। उपस्थिति एवं आशीर्वाद ही अनमोल उपहार होगा। कई व्यक्ति उनको मिले उपहारों को देने वाले का टेग हटाए बिना ही फारवर्ड कर स्वयं को स्मार्ट समझते हैं। कई व्यक्ति इसलिए […]