लघुकथा

संकल्प

मेरी बेटी की बेटी का सातवां जन्मदिन था। जन्मदिन पर उसके हाथ से समीप के किसी बालिका सरकारी स्कूल में स्टेशनरी एवम बिस्किट इत्यादि बंटवाया करता था। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल बंद होने के कारण हम दोनों समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती मरीजों के लिए फल एवम बिस्किट बांटने गए ताकि बचपन […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

झालर बावड़ी ग्राम का चारभुजा तीर्थ स्थल

राजस्थान में कोटा के समीप रावतभाटा से दो किलोमीटर दूर चारभुजानाथ जी का चार सौ वर्ष पुराना मंदिर है। एक भव्य तीर्थ स्थल। इस स्थल का नाम झालरबावड़ी है पर प्रचलित नाम चारभुजा ही है। मान्यता है कि भक्त मन्नत मानते है वह अवश्य ही पूरी होती है। मन्नत पूर्ण होने पर अपनी श्रद्धा अनुसार […]

कविता

पढ़ाई चालीसा

बेटा पढ़। आगे बढ़। बेटी तू भी पढ़। सुन्दर भविष्य गढ़। समय है मूल्यवान। अच्छे कामों पर दे ध्यान। बना टाइम टेबल। पढ़ लिख कर बन काबिल। प्रतिदिन स्कूल जा। घर से होमवर्क करके ला। जिस कक्षा में है उतने घंटे पढ़। प्रत्येक विषय को ध्यान देकर पढ़। गणित की एक प्रश्नावली प्रतिदिन कर। अंग्रेजी […]

लघुकथा

काम की बाई

जया की बेटी जयंती का जन्मदिन था। रात्रि में बारह बजे व्हाट्सएप स्टेटस नहीं डाला। फेसबुक पर भी कुछ पोस्ट नहीं किया। अपनों परायों संबंधियों रिश्तों फ्रेंड्स ग्रुप मेंबर्स का मूल्यांकन करना चाहती थीं कि देखती हूं किन किन को मेरी बेटी का जन्मदिन स्मरण है। कोरोना के कारण कोई पार्टी सम्भव भी नहीं थी। […]

लघुकथा

जया की सेल्फ स्टडी

जया कुछ परेशान थी। स्कूल ट्यूशन कोचिंग सब बंद हैं। अपने मार्गदर्शक दिलीप अंकल से समस्या का समाधान फोन पर पूछा। उनके बतलाए समाधान का पालन कर सेल्फ स्टडी प्रारंभ की। एक लेसन पढ़ कर लिखने का प्रयास करती। नहीं लिख पाती। दुबारा पूरे ध्यान से पढ़ कर पुनः पढ़े हुए लिखने कि कोशिश करती। […]

सामाजिक

घर को लगा दी आग घर के चिरागों ने

देश के कुछ घरों के चिराग ही बलात्कार की घटनाओं के लिए दोषी हैं। भारतीय घरों में बेटों को वी आईं पी सुविधा मिलती हैं। बेटों को भी बेटियों के समान अनुशासन में रखने की आवश्यकता है। उनकी गतिविधि आचरण व्यवहार चरित्र पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। बेटों से भी प्रश्न करने होंगे। घर […]

संस्मरण

लिली टीचर

जीवन संध्या में एक मासूम भोली चुलबुली 6 वर्षीया लिली मेरे लिए टीचर की भूमिका निभा रही है। रिश्ते में लिली मेरी बेटी की बेटी है। मेरी फ्रेंड भी है। राखी के दिन मेरी बहन है। उसने मुझे कई खेल सिखाए इसलिए वह मेरी टीचर है। बचपन के कई भूले बिसरे खेल उसके साथ खेलकर […]

लघुकथा

बड़ी नहीं, अच्छी शिक्षिका बनना

संध्या बेटी , स्नेह। सरकारी स्कूल में शिक्षिका की नियुक्ति पर बधाई। मेहनत का फल मीठा होता है। तुमने मेरे मार्गदर्शन एवम् मेरी पुस्तकों समय तथा कैरियर को श्रेय दिया। पर बेटी मेरी भूमिका मात्र राह दिखाने भर की थी। सोशल साइट्स से तुम्हारे दो वर्षों के उपवास के साथ आत्मनिर्भर बन कर पढ़ाई करने […]

पुस्तक समीक्षा

पुस्तक समीक्षा – संस्कारों की पाठशाला

बच्चे मोबाइल टेलीविजन स्मार्टफोन सेल्फी वीडियो में उलझे हुए हैं। घर आए अतिथि को कहने पर भी नमस्ते नहीं करते। मम्मी के हाथ का बना भोजन नहीं खाना चाहते। मैगी पिज़्ज़ा बर्गर फास्ट फूड की फरमाइश प्रतिदिन रहती है। मम्मी पापा के अच्छी बात कहने पर भी कहना नहीं मानते। जिद करते हैं। सम्मान संस्कार […]

पुस्तक समीक्षा

पुस्तक समीक्षा – प्लूटोनियम

गागर में सागर समान इस पुस्तक में परमाणु ऊर्जा में प्लूटोनियम के उत्पादन प्रबंधन उपयोग आवश्यकता महत्व सुरक्षा पर विस्तार से सारगर्भित सटीक जानकारी मिलती है। यह पुस्तक इस भ्रम को भी तोड़ती है कि विज्ञान साहित्य हिन्दी में लिखना कठिन है। लेखक दोनों ही एवम् संपादक साधुवाद के पात्र हैं। इस विषय पर शोध […]