Author :

  • माँ की महिमा

    माँ की महिमा

    माँ कितनी महान होती है उसके चरणों में जन्नत होती है माँ की महिमा का क्या करुँ वर्डडन वो तो सारे बरम्हांड की माँ होती है, देवता भी जिन्हे पूजते नहीं थकते ऐसी माँ हम सबकी...

  • कलाम को सलाम

    कलाम को सलाम

    कलाम अपने कर्मो से पहचाने गए उनकी क्या मिसाल ज्ञान और विज्ञानं कके  थे मिसाल सादा  जीवन उनकी  पहचान बच्चो को सीखते रहे किताबो से करना प्यार, किताब ही सच्ची साथी उनका हर दम कहना  होता...

  • कतार

    कतार

    हर जगह कतार  है, फ़ोन भी बोलता है आप कतार में है, कब खतम होगी, ये कतार पता  नहीं लोग बढ़ते जा रहे है हर तरफ मारामारी है सबको जल्दी है, कतार से बहार आने की...

  • मॉ की महिमा निराली

    मॉ की महिमा निराली

    मॉ की महिमा निराली होती है। नवरात्र में हर तरफ उन्ही की धूम है। पूरा देश इस समय पूजा में व्यस्त है, सभी किसी न किसी तरह से मॉ को खुश करने में लगे हुए है...

  • कविता : होली

    कविता : होली

    होली का त्यौहार है कितना प्यारा, सब तरफ है रंगों का उजियारा हरे, गुलाबी, नीले, पीले हर रंग की  है अदा  निराली जैसे कह रहा कोई कहानी हर कोई है मस्ती में डूब  जाना चाहता है...

  • बेटियाँ

    बेटियाँ

    बेटियाँ होती है कितनी प्यारी सबकी आखो की राजदुलारी फिर भी लोग क्यों समझते है बोझ बेटे से जादा काम आती है बेटिया हर समय माँ, बेटी, बहन बनकर सबको प्यार देती है बेटिया क्यों नहीं...

  • माँ

    माँ

    माँ माँ भावना है अहसास है, माँ जीवन है अनमोल है, माँ बच्चे की लोरी है, माँ अहसास है उन सुखद पलो का, माँ धरा है जिसकी कोई सीमा नहीं, आसमान है जिसे कोई सीमा नहीं,...

  • कविता : हम सब एक हैं

    कविता : हम सब एक हैं

    हम सब एक है एक धरती एक उपवन हम सब उसके बासी है मिली धूप हमें एक बराबर मिटटी के कर्ण के सामान हम रूप रंग हो भले अलग हमारे पर मन से हम एक है...

  • नशा क्या है ?

    नशा क्या है ?

    जो पीता है शराब क्या वही नशे में है लगता है मानो आज सभी नशे में है, किसी को दौलत का नशा, किसी को शौहरत का नशा, किसी को प्यार का नशा, किसी को सत्ता का...

  • विरह वेदना

    विरह वेदना

    पति जब पत्नी से मिलापत्नी बोली,हे प्राणप्रिये तुम नहीं थेतो लगता था जीवन नहीं हैहे प्रिये तुम्हे मेरी याद आई या नहींपति बोला,तुम ही मेरा जीवन होतुम्हारे बिना कुछ नहीं है मेरा जीवनहे प्रिये जब सावन...