Author :

  • ख़्याल कुछ ऐसे भी…

    ख़्याल कुछ ऐसे भी…

    जीवन मे प्रेम कभी भी… विदा_ले_लेता_है… कभी कभी कह कर… कभी चुपचाप…! कभी आँखो मे आंसू देकर… और कभी होंठों की हँसी छीन कर… जब प्रेम विदा होता है… एक अजीब सी मायूसी… एक अजीब सा...