Author :

  • मेरी मासी यात्रा

    मेरी मासी यात्रा

    कल रविवार को मैने परीक्षा देने के लिए जाना था, मेरा सेन्टर अल्मोड़ा जिले के स्याल्दे विकासखण्ड में गैरखेत नामक स्थान पर पड़ा था। दूर होने के कारण मैंने शानिवार की रात को ही निकलना उचित...

  • कुदरत का कहर

    कुदरत का कहर

    वर्ष 2013 की आपदा पर लिखी मेरी कविता कुदरत का कहर बरस गया प्यारा पहाड़ खण्ड-खण्ड हो गया देवभूमि की दशा दयनीय कर गया नदियों को विकराल रूप दे गया गंगा का ऐसा रौद्र रूप कर...

  • विश्वास या अंधविश्वास

    विश्वास या अंधविश्वास

    आज शाम जब मुझे पढऩे के लिए कुछ नहीं मिला , तो मैं अपने सामने रखे अल्मारी की तरफ बढ़ा, जिसमें मैंने ढेर सारी मैगजीने एवं डायरियां रखी हुई थी। मैं अपनी अल्मारी में रखी मैगजीने-डायरियां...

  • १०० रूपये का फटा नोट

    १०० रूपये का फटा नोट

    मैंने लिखने का काम लगभग सन्ï २००४ से शुरू किया था। तब मैने छोटे-छोटे लेख एवं कविताएं लिखना शुरू किया था, या यू कहे पत्रकारिता की दिशा में कलम चलाना सीख ही रहे थे। साल 2008...

  • अखबार वाला लडका

    अखबार वाला लडका

    पौष के माह में कड़ाके की ठड़ पड़ी रही थी। रात में पाला गिरने से सुबह धरती ऐसी लग रही थी, मानो आसमान से परी जमी पर उतर आयाी हो। पाले की वजह से सुबह जो...