Author :

  • जिजीविषा

    जिजीविषा

    नारी जिसे कभी अबला कहते है आज वही नारी वैज्ञानिक,इंजिनियर है। पायलट है, डाक्टर है, सैनिक है। हर क्षेत्र में सहयोगी है चारों ओर प्रगति कर रही है । सामाजिक बंधनो और मर्यादाओ की रक्षा कर...



  • तुम्हारी याद

    तुम्हारी याद

    कभी गीत गाकर नयन को चलाना, कभी पास आकर पुनः भाग जाना, कभी खिलखिला कर हृदय को रिझाना, कभी देखा मौसम मनोरम सुहावना, मचलते हुए दूर जाकर बुलाना, कभी फिर हंसाकर हृदय को दुखाना, तुम्हारे विरह...


  • जिजीविषा …

    जिजीविषा …

    नारी जिसे कभी अबला कहते है आज वही नारी वैज्ञानिक, इंजिनियर है। पायलट है, डाक्टर है, सैनिक है। हर क्षेत्र में सहयोगी है चारों ओर प्रगति कर रही है । सामाजिक बंधनो और मर्यादाओ की रक्षा...


  • आँसू

    आँसू

    तुम  मेरे हमसफ़र और रह गुजर  हो ग़म में डूबूं या खुशी में तुम तो सहज छलक पड़ते हो। किसी की पीड़ा देख बह पड़ते हो, तुम्हारा बहना अपूर्व शांति सौंपता है नई दिशा देता है...

  • जिन्दगी क्या है

    जिन्दगी क्या है

    जिन्दगी तो प्रेम की एक गाथा है, जिन्दगी भावुक प्रणय की छाँव है, जिन्दगी है वेदना की वीथिका सी जिन्दगी तो कल्पना की छुवन भर है। जिन्दगी है चन्द सपनों की कहानी, जिन्दगी विश्वास के प्रति...

  • मातृभूमि

    मातृभूमि

    मातृभूमि के लिये नित्य ही, अभय हो जीवन दे दूंगा । तन ,मन , धन निस्वार्थ भाव, सर्वस्व समर्पित कर दूंगा। जिस मातृभूमि में जन्म लिया है, जिसके अंक नित खेल हूँ। शिवा जी दधीचि की...