Author :

  • याद आते रहेंगे

    याद आते रहेंगे

    तुम्हारे मिलन के मधुर क्षण सुहाने, सदा ही प्रिय , याद आते रहेंगे। कभी गीत गाकर नयन को चलाना। कभी पास आकर पुनः भाग जाना। कभी खिलखिला कर हृदय को रिझाना। कभी देखा मौसम मनोरम सुहाना।...

  • कल्पना

    कल्पना

    अभी उम्र वाकी बहुत है प्रिये , तुम न रूठों,अभी ज्योति मेरे नयन में। इधर कल्पना के सपने हम सजाते, उधर भाव तेरे मुझे है बुलाते, यहां प्राण, मेरी न नैया रूकेगी, बहुत बात होगी, न...

  • दहेज लोभी

    दहेज लोभी

    ********** जूही ,चम्पा, चमेली सी खिली हाथों में मेंहदी लगाये आँखो में अनगिनत सपने सजाये, माँ की लाडली पिता की दुलारी लाल जोडे़ में सजी सिमटी सकुचाई सी मण्डप पर बैठी थी अभी सात फेरे भी...

  • भारतीय संस्कृति

    भारतीय संस्कृति

    भारत की संस्कृति निराली सबको देती मान सम्मान बड़ों की सेवा सब करते हैं छोटों से करते हैं प्यार, संस्कारों की भूमि यह है सबको देती मान सम्मान। सुबह सबेरे मात पिता की करते हैं चरण...

  • गीत- याद आते रहेंगे

    गीत- याद आते रहेंगे

    तुम्हारे मिलन के मधुर क्षण सुहाने, सदा ही प्रिय , याद आते रहेंगे।कभी गीत गाकर नयन को चलाना।कभी पास आकर पुनः भाग जाना। कभी खिलखिला कर हृदय को रिझाना। कभी देखा मौसम मनोरम सुहाना। मचलते हुए...

  • जिजीविषा

    जिजीविषा

    नारी जिसे कभी अबला कहते है आज वही नारी वैज्ञानिक,इंजिनियर है। पायलट है, डाक्टर है, सैनिक है। हर क्षेत्र में सहयोगी है चारों ओर प्रगति कर रही है । सामाजिक बंधनो और मर्यादाओ की रक्षा कर...


  • तुम्हारी याद

    तुम्हारी याद

    कभी गीत गाकर नयन को चलाना, कभी पास आकर पुनः भाग जाना, कभी खिलखिला कर हृदय को रिझाना, कभी देखा मौसम मनोरम सुहावना, मचलते हुए दूर जाकर बुलाना, कभी फिर हंसाकर हृदय को दुखाना, तुम्हारे विरह...


  • जिजीविषा …

    जिजीविषा …

    नारी जिसे कभी अबला कहते है आज वही नारी वैज्ञानिक, इंजिनियर है। पायलट है, डाक्टर है, सैनिक है। हर क्षेत्र में सहयोगी है चारों ओर प्रगति कर रही है । सामाजिक बंधनो और मर्यादाओ की रक्षा...