सामाजिक

जानिए क्यों है समाज में विधवा वेश्या समान-रांड और रंडी शब्द

इस होली पर एक सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण घटना घटी, ये घटना ऐसी थी की जिसने सैकड़ो सालो से चली आ रही एक अमानविय प्रथा को तोड़ दिया है। इस होली पर वृंदावन की विधवाओं ने सौकडो सालो से चले आ रहे धर्म के उस अमनवीय प्रतिबंध को तोड़ दिया जिसमे उन्हें अपने बेरंग जीवन को […]

कहानी

कहानी : मुआवज़ा

“अरे भाई भोलानाथ कँहा चल दिए इतनी जल्दी में ?” नत्थू ने एक हाथ में रोटी का टिफन दूसरे हाथ में लाठी लिए तेजी से जाते हुए भोलाराम से पूछा । ” राम राम नत्थू भाई …. बस खेतो की तरफ जा रहा हूँ .रात में रखवाली करनी पड़ती है न जानवरो से , आप […]

कहानी

कहानी : वो कौन थी ?

ओह! …ब्यूटीफुल! कितना खूबसूरत नजारा है , ऐसा लगता है जैसे मैं किसी और लोक में पहुँच गई हूँ ” वीणा ने ख़ुशी और आश्चर्य से अपनी बड़ी बड़ी आँखों को और बड़ा करते हुए कहा । “केशव! और आगे चलो न , आगे चल के देखते हैं न! उस वाले पत्थर पर खड़े होके […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

नास्तिकता मूलतः शोषक शक्तियों के खिलाफ लड़ने का नाम है

भारतीय दार्शनिक परम्परा की दो कोटियां निर्धारित की गई हैं, वेदों और ईश्वर को मानने वाले आस्तिक और वेदों और ईश्वर को न मानने वाले नास्तिक । नास्तिकों के खिलाफ समस्त धार्मिक ग्रंथों में ढेरों अपशब्द कहे गए हैं। उन्हें अभिशप्त किया गया, वे असुर परम्परा में रखे गए हैं । असुरों के विरुद्ध देवताओं […]

लेख

जानिए क्यों हैं 49%दलित बच्चे शिक्षा से दूर

  जुलाई 2015 में अंग्रेजी के दैनिक अख़बार टाइम्स ऑफ़ इण्डिया में एक खबर छपी थी जिसमे एक राष्ट्रिय स्तर के सर्वे के आंकड़े दिए थे । उस आंकड़े के अनुसार देश में 49% sc/st के बच्चे स्कूल नहीं जा पाते है , अर्थात देश में 3-13 साल के 60.6 लाख बच्चे ऐसे हैं जो […]

राजनीति

इन शहीदों को कब अपना मानेगा देश ?

पठानकोट पर हुए हमले के दौरान शहीद हुए सैनिको को लेके देश भर में उबाल है , सरकार ने इस आतंकी हमले में शहीद हुए सैनिको के परिवार वालो को वह सब सुविधाएँ देने का वादा किया है जो युद्ध में शहीद हुए सैनिक के परिवार वालो को मिलतीं हैं । मिलनी भी चाहिए सारी […]

यात्रा वृत्तान्त

यात्रा भानगढ़ किले की

  ‘ हैलो’ मैनें फोन उठाते हुए कहा , दूसरी तरफ मेरे लेखक मित्र कमल कुमार सिंह जी थे । कमल भाई ने बताया की खुजराहो जाने प्लान बन गया है और मुझे चलना है । यात्रा बाय कार थी और उनका एक मित्र मनु त्यागी जी की कार है उससे ही प्रोग्राम है चलने […]

हास्य व्यंग्य

प्रभु की चिंता

” नारायण नारायण …प्रणाम प्रभु” पौराणिक कथाओ में वर्णित तरीके से देवऋषि नारद ने प्रभु के सामने झुक के प्रणाम करते हुए कहा । ” प्रणाम मुनिवर …” प्रभु ने गहरी सांस लेते हुए कहा नारद जी ने प्रभु के मुख पर छाई चिंता की लकीरो को गौर से देखते हुए कहा – ” प्रभु, […]

कहानी

नागिन डांस – नई कहानी

“चाचा जी नमस्ते ” गोलू उर्फ़ ज्ञानप्रकाश ने पन्नालाल लाल के कार से उतरते ही नमस्ते कहता हुआ पैर छुए । ” जीते रहो बेटा… सब ठीक है ?”पन्नालाल ने गोलू से पूछा ” जी सब ठीक है … मम्मी पापा आपका ही इन्तेजार कर रहें है , गोलू ने कार से सामान उतारते हुए […]

सामाजिक

क्यों न त्यागे धर्म / मजहब को स्त्रियां?

अभी कुछ दिन पहले यह खबर पढ़ी थी की सबरीमाला मंदिर में स्त्रियों का प्रवेश निषेध जारी रखा गया और एक और खबर पढ़ी की महाराष्ट्र के शनि देव मंदिर में एक महिला द्वारा पूजा करने और तेल चढाने पर पुरे मंदिर का ‘ शुद्धिकरण’ करवाया गया । देश में ऐसे लाखो मंदिर होंगे जिनमें […]