Author :

  • उपलब्धियों के राजकुमार

    उपलब्धियों के राजकुमार

    एक  लेखक, जिसने 4 अगस्त से एक स्थापित लेखक की भांति साहित्य-सृजन शुरु किया हो, 14 सितम्बर तक जिसकी 35 नायाब रचनाएं प्रकाशित हो चुकी हों, जिसकी हर रचना वैविध्य लिए हुए हो और प्रशंसनीय भी, जिसने...

  • हिंदी शब्दों की शुद्ध वर्तनी

    हिंदी शब्दों की शुद्ध वर्तनी

    प्रिय बच्चो, जय हिंदी, आज घर से बाहर निकलते ही हमारे सामने से एक ऑटो गुज़रा, जिस पर ”मां का आशीर्वाद” लिखा हुआ था. इसे पढ़कर हमें बहुत अच्छा लगा, क्योंकि इससे हमें अपनी माताजी के...

  • मेरे अंगना में गणपति आए

    मेरे अंगना में गणपति आए

    मेरे अंगना में गणपति आए नाचूंगी मैं तो झूम-झूम के       2413/ 11.9.99 मेरे नैना मगन हर्षाए नाचूंगी मैं तो झूम-झूम के-   1.गणपति तेरे अजब-निराले सूंड सुहानी गजमुख वाले करके करुणा अंगनवा में...

  • शिक्षक हमें सिखाते हैं

    शिक्षक हमें सिखाते हैं

    प्रिय बच्चो, सदा खुश रहो, आज आप शिक्षक दिवस मना रहे होंगे. आप में से कुछ बच्चे शिक्षक-शिक्षिकाएं बने होंगे. शायद आप कक्षा में पढ़ाने के लिए अपने शिक्षकों की तरह कुछ तैयारी भी करके आए...

  • गाइए गणपति गुण गाइए

    गाइए गणपति गुण गाइए

    गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं   गाइए गणपति गुण गाइए गौरी शंकर सुवन मनाइए (3)- गाइए गणपति गुण गाइए—-   1.गणपति सबके काज संवारें, गणपति सबके कष्ट निवारें- 2.गणपति सबके भाग्यविधाता, गणपति सिद्धिविनायक त्राता- 3.ऋद्धि-सिद्धि के...

  • पिता पहचान हैं

    पिता पहचान हैं

    अंतर्राष्ट्रीय पितृ दिवस पर विशेष पिता आकाश हैं, आकाश में धूप हैं, धूप में कवच हैं.   पिता मित्र हैं, मित्रों में सुदामा हैं, पिता ही श्रीकृष्ण हैं.   पिता उपनिषद हैं, उपनिषदों में कठोपनिषद हैं,...

  • धुंध और धूप का रिश्ता

    धुंध और धूप का रिश्ता

    धुंध और धूप का रिश्ता विचित्र है दोनों शब्द ‘ध’ वर्ण से सृजित हैं यद्यपि दोनों का कोई मेल नहीं है फिर भी वे मानो मित्र हैं.   धुंध को अपना जलवा बिखेरने देने के लिए...

  • मैय्या तेरे भवन निराले

    मैय्या तेरे भवन निराले

    मैय्या तेरे भवन निराले जयकारे-ही-जयकारे यहां आते हैं दिलवाले जयकारे-ही-जयकारे 1.कौल कंदौली जय-जयकारे माई देवा जय-जयकारे बाणगंगा के धारे जयकारे-ही-जयकारे 2.चरणपादुका जय-जयकारे आदिकुंवारी जय-जयकारे मिल जाएंगे किनारे जयकारे-ही-जयकारे 3.हाथी मत्था जय-जयकारे सांझी छत पर जय-जयकारे चम-चम...