Author :

  • गुरु दोहा-अष्टक

    गुरु दोहा-अष्टक

    गुरु ब्रह्मा विष्णु गुरु, गुरु शंकर अवतार। गुरु मिलाएं ईश से, मन से हटाके विकार॥ सच्चे गुरु की सीख से, अपना जन्म सुधार। चौरासी के फेर से,पा ले तू छुटकार॥ गुरु सूरज का तेज है, गुरु...

  • सारा जहां हमारा है

    सारा जहां हमारा है

    ”राम-राम छमिया मौसी.”सुनील ने काठगाड़ी पकड़कर हौले-हौले चलती छमिया मौसी को देखकर कहा. ”आयुष्मान, बुद्धिमान, सेवामान भव बेटा.” छमिया मौसी ने हमेशा की तरह खुश होते हुए आशीर्वाद की झड़ी लगा दी. ”छमिया मौसी, आपके आशीर्वाद...

  • हर पर्व का संदेश: सद्भावना

    हर पर्व का संदेश: सद्भावना

    सद्भावना जीवन सार बने हर मानव का श्रृंगार बने- सद्भावना से कायम धरती, यह भेद नहीं कोई करती, जग-जीवन को सुदृढ़ करती, हम धरती पर क्यों भार बनें? सद्भावना से भरपूर गगन, सीमा-रेखा से दूर मगन,...


  • राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम

    राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम

    जय सियाराम जय-जय सियाराम, राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम 1.राम तेरी नैय्या पार करेंगे प्रभु तेरी पतवार बनेंगे सबके खिवैया हैं सियाराम, राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम-   2.दीन दुखी को दे दो सहारा...

  • आइए कविता लिखना सीखें- 6

    आइए कविता लिखना सीखें- 6

    प्रिय बच्चो, सदा खुश रहो, कविता लिखना सीखने के इस क्रम में हम आपको केवल कविता द्वारा अनेक विषयों पर कविता लिखना सिखाते हैं. आज हम आपको फूलों की ज़बानी कुछ कविताएं सिखाते हैं-    ...

  • गुरु-भजन

    गुरु-भजन

    सेवा-सिमरन-सत्संग की शुभ राह मुझे दिखलादे                                 6.3.14 जीव नहीं मैं ब्रह्म-स्वरूप हूं यों रहना सिखलादे गुरुवर जय हो तेरी, गुरुवर...

  • असीम साहस की जीती-जागती मिसाल

    असीम साहस की जीती-जागती मिसाल

    आज हम आपसे राजेंद्र प्रसाद जी के बारे में बतिया रहे हैं. राजेंद्र प्रसाद जी का नाम आते ही हमारा और आपका ध्यान स्वतंत्र भारत देश के प्रथम राष्ट्रपति स्वर्गीय राजेंद्र प्रसाद जी की ओर जाता...