हाइकु/सेदोका

कुछ हाइकू

1. ताकत नहीं प्यार से जुड़ती है रिश्तो की लड़ी 2. ना छटपटा दिल का दिया जला/ जला दिल का दिया मन बावरे 3. घर घर में विद्या दीप जलाएं तम मिटाएँ । 4. जान ले सच भ्रूण हत्या पाप है पाप से बच 5. चीखे पुकारे गर्वशय में शिशु जिसे तू मारे

हाइकु/सेदोका

हाइकू

1.छोड़ न जाना दुःख और सुख में साथ निभाना. 2.लौटा के मेरा बचपन सुहाना हंसा दे कोई. 3.कभी हंसातीं भूली बिसरी यादें कभी रुलातीं. 4.हमें रुलातीं भूली बिसरी यादें जब भी आतीं. 5.यही है सच अग्नि है प्रचंड क्रोध से बच.

कहानी

लुटेरे

आज प्रदीप पहली बार चोरी करने के इरादे से , रात के काले अँधेरे में, घर से बाहर निकल पड़ा । वो कोई पैदाइशी चोर नहीं था, पर जिंदगी की बेरुखी और गरीबी ने उसे इस काम की और धकेल दिया था । कभी कभी इंसान हालातों की चपेट में, इस कदर फस जाता है […]

हाइकु/सेदोका

हाइकु

  1. तू दूर नहीं मेरे पास है मां तू मुझमें कहीं. 2.शुक्रिया तेरा मेरे दोस्त तूने जीना सिखाया. 3.भूल न जाना मां की कुर्बानियां तू कर्ज़ चुकाना. 4.बतादे जरा तुझे लाऊं कहां से समझा ज़रा. 5.रख हौसला तिनके सहेज ले बना घोंसला    

हाइकु/सेदोका

कुछ हाइकू

{मेरी पहली कोशिश} 1.पेड़ लगाएं पेड़ों से है जीवन जीवन पाएं. 2.खो गई हूं मैं मुझे रास्ता दिखा दे ऐ मेरे खुदा. 3.रंग बिरंगी मेरे भैया की राखी मुझको भाती. 4. तुझे प्रणाम जग जननी नारी तू है महान. 5.हाइकु लाया गागर में सागर मन हर्षाया.

लघुकथा

विज्ञान के चमत्कार

ये उस वकत की बात है जब कंप्यूटर इस्तमाल में नहीं आये थे | सविता देवी की बेटी पूनम की शादी विदेश में हुई थी| उसने अपनी लाड़ली को इतनी दूर ब्याहने के बारे में उसने कभी सोचा भी नहीं था पर, जैसे कहते हैं न! यह सब संयोग की बात होती है। इस पर […]

कहानी

रिश्ता प्यार का

श्रद्धा देवी और दीनानाथ के दो बेटे थे. उनकी शादी हो चुकी थी. बड़े बेटे को औलाद का सुख मिल गया था, मगर छोटे बेटे अरुण का आंगन अभी सूना था | अरुण और दीपिका दोनों की जोड़ी को जैसे भगवान ने अपने हाथों से बना कर भेजा था. दोनों एक दूसरे पर जान देते […]

कहानी

सच्चा प्यार

रविवार का दिन था, दयाल चंद अपनी आलीशान कोठी के बाहर अपनी कार धो रहा था। कार धोने में , उसके दोनों  बेटे रवि और दीपू  भी उसकी सहायता कर रहे थे ।  वो दोनों पिता की सहायता  करने के साथ-साथ एक दूसरे पर पानी के छींटे डाल कर खेलने का आनंद  भी ले रहे […]

कहानी

पक्का इरादा

प्रीति और विनोद अपने शादी शुदा  दोस्त मीना और रवि से मिलने जा रहे थे।  वो कॉलेज के समय के दोस्त थे। ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद वह सभी अपनी-अपनी ज़िंदगियों में व्यस्त हो गए थे। आज  लगभग डेढ़ साल बाद वो उन दोनों से मिलने जा रहे थे | रवि और मीना एक दूसरे […]

कविता

सपना अगर ये सच हो जाये

भारत के स्वच्छता अभियान के सिलसिले में मेरी यह कविता मोदी जी के फेसबुक की साईट ‘माई क्लीन इंडिया’ पर प्रकाशित होने योग्य मानी गई और प्रकाशित भी हो गई है. अब आपके समक्ष प्रस्तुत है कविता ‘सपना अगर ये सच हो जाये’.आप ‘माई क्लीन इंडिया’ साईट पर इसे देखकर लाईक, कामेंट व शेयर भी […]