Author :


  • जन्मदिन की ग़ज़ल

    जन्मदिन की ग़ज़ल

    भेजूँ जन्मदिन पर गजल उपहार , करूँ शुभकामनाओं का इजहार। हो आशाओं की मंजिल बुलंद , करे सारे सपनों को साकार । लबों पर छाए ऐसी मुस्कान , जैसे अपनों का बरसता प्यार । जीवन के...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    संवेदनाओं के अंकुर में छायाअन्धकार है रिश्तों के फलसफों में माँ !हासिए से भी पार है माँ ! के हर्फ में बसी ममता की कितनी मिठास है रख के माँ ! को वृद्धाश्रम में बनाया सरोकार...

  • गीतिका

    गीतिका

    अल्लाह के नूर – सी लगती जग में देखो माँ सत्यं -शिवं – सुंदरं दिखती जग में देखो माँ अपनी परवाह जरा भी न कर के संतान को सारे सुख न्योछावर करती जग में देखो माँ...


  • स्वस्ति गीत

    स्वस्ति गीत

    मेरे मुखरित मधुर मधुबन की बिटिया आज प्यारी दुल्हनिया बनी आ -आ के ऋतु करें सोलह श्रृंगार देखो छायी है कैसी अजब बहार । झूमर झूमे शीश पे जज्बात लिए बिंदिया चमके प्यार की लाली लिए...

  • साहित्यिक सेतु

    साहित्यिक सेतु

    कामयाबी के शिखर पर ए सखी शकुन ! तू बड़ी याद आयी तूने ही वीरान , पतझड़ जिंदगी में साहित्यिक बहारों का चमन खिलाया था तेरी स्नेहिल ऊँगली थाम के मुम्बई की जीवन रेखा लोकल से...

  • सीढ़ी

    सीढ़ी

    जानी-पहचानी घर की सीढ़ी जिसके सौपानों पर नित्य का मेरी सखी का आना – जाना लगा रहता है आज यही सीढ़ी उसके लिए बेरहम निकली वह चढ़ भी न पायी कि वहीं पर गिर गयी कमर...

  • गजल

    गजल

    प्रतिभाओं की धनी गुणवान थी हमारी माँ परहित की नदी सी गतिवान थी हमारी माँ सौम्य ,शांत , शील स्वरूप नाम उनका शांति सीता , लक्ष्मी – सी रूपवान थी हमारी माँ  धर्म की थी संवाहक...