Author :



  • जो है, सो है

    जो है, सो है

    पूरे घर में गन्दगी का अम्बार था, घर की तिजोरी पर हर कोई हाथ साफ़ कर रहा था, जेवर-सोना-चांदी सब लूट चुका था, सारे तालें टूटे पड़े थे, हर कोई बाप का माल समझ कर मलाई...