Author :

  • जिंदगी और मौत

    जिंदगी और मौत

    ये जिंदगी चंद लम्हो की है यारो, आएगी मौत तो हाथ रहेगी खाली फिर काहे को हाय तौबा है यारो, काफी है जीने के लिए दाल रोटी की थाली। जिंदगी एक गुलामी है उम्र भर के...

  • जीवन -चक्र

    जीवन -चक्र

    कल मैं बच्चा था कितना अच्छा था आज हम हो गये बड़े जिम्मेदारी भी हो गये खड़े पहले कितना मस्त था किसी चिंता से न त्रस्त था पढ़ाई और खेलाई में व्यस्त था अब बड़े होने...


  • ईमानदारी ही ईमान

    ईमानदारी ही ईमान

    ईमानदारी एक शब्द नहीं ये ईमान है, ये देश को दिलाता एक सम्मान है। ये देश के विकास को बढ़ाता है, खुद की प्रगति भी कराता है।। ईमानदारी से ही देश मजबूत होता है, ईमानदारी से...

  • यादों के पल

    यादों के पल

    जिंदगी के बीते कुछ पल बन जाते हैं यादें जिंदगी के गुजरे पल बन जाते हैं यादें । वो यादें यादों के खजानों से निकल कर आते हैं वो यादें जीवन की बेकरारी बन जाते हैं...

  • बेटी ही धन है

    बेटी ही धन है

    बेटी ही धन है बेटी है तो जन है बेटी है तो मान है बेटी है तो आप भाग्यवान है। परिवार की ऊजाला है बेटी माँ बाप की रखवाला है बेटी बेटी है तो बहार है...

  • आ रहा हूँ मैं

    आ रहा हूँ मैं

    कह दो मंजिलो को आ रहा हूँ मैं, मेरे कदम रूके नही है, न सो रहा हूँ मैं। रास्तों का पता है मुझे, भटका नहीं हूँ मैं। हौसलें बुलंद है मेरे, अटका नहीं हूँ मैं। विश्वास...

  • खून ,खानदान और विज्ञान

    खून ,खानदान और विज्ञान

    आज हम चाहे जितना विकास का डंका बजा दे, चाहे जितना भौतिकता की सुख का आनंद ले रहे हो पर असल में विकास तब जाकर सही मायने में पूर्ण होगी जब हम मानसिक रूप से विकसित...

  • इंसानियत

    इंसानियत

    तेरा नाम मशहूर है लोगों का दिल बहलाने में ,कभी फुर्सत मिले तो स्वागत है तेरा मेरे आशियाने में । जहाँ मंदीर में आरती और मस्जिद से अजान की आवाजें आती है,धर्म के नाम पे इंसानो...

  • जियो तो ऐसे जियो

    जियो तो ऐसे जियो

    ‘कल क्या होगा न मैनै देखा न तुमने , आज की हम करें बात , ओछी सोच को त्यागकर, सच्चाई को करें आत्मसात। ‘इस क्षण को हँसकर बिताए, न तड़पे और न करें संताप, सुख-दुःख तो...