Author :


  • बाल कविता – चिड़िया

    बाल कविता – चिड़िया

    फुदक-फुदक कर नाचती चिड़िया, दाना चुंगकर उड़ जाती चिड़िया हरी-भरी सुंदर बगिया में, मीठे-मीठे गीत सुनाती चिड़िया अपने मिश्रीघुले बोलों से बच्चों का मन चहकाती चिड़िया नित मिल-जुल कर आती, आपस में नहीं झगड़ती चिड़िया प्रेमभाव...

  • भादों का महीना

    भादों का महीना

    बरसते भादों का महीना है प्रिये तुमको भीगके जाना है बोलती कोयल कुहू-कुहू हमने तुम्हें ही अपना माना है शीतल समीर चलती, मोर नाचते कल-कल कहती नदी बहती हमारे हृदय का कहना है बरसते भादों का...

  • मेरी कविता

    मेरी कविता

    राजनेताओं की चाटुकारिता नहीं मेरी कविता प्रेमिका का चाँद-तारों वाला श्रृंगार नहीं मेरी कविता धर्म-जाति, मजहब का भेद नहीं मेरी कविता स्वार्थ की चार दिवारी वाली कैद नहीं मेरी कविता हास्य के नाम पर फूहड़ता नहीं...

  • स्वतंत्रता दिवस

    स्वतंत्रता दिवस

    आ गया प्यारा स्वतंत्रता दिवस, लेकर  अमर  क्रांति का संदेश | छाया  है  चहुँओर  हर्ष  ही  हर्ष, सबसे न्यारा-प्यारा है भारतवर्ष | लहरा  रहा  बड़ी शान से तिरंगा, दिलों में सबके बह रही प्रेमगंगा | हिंदू-...

  • उमस

    उमस

    पसीना झर रहा झरने की तरह जिस्म तर, कपड़े हैं तर दिन को मक्खियां और रात को मच्छर कैसे सहें इस उमस का कहर ? अमीरों ने लगाईं एसियां घरों में लेते मजे गर्मी में सर्दी...

  • नव निर्माण 

    नव निर्माण 

    आसमान पर ड़ाला ड़ेरा गाँव-शहर सबको आ घेरा बड़ी दूर से चलकर आये जाने कहाँ-कहाँ से आये तरह-तरह के रुप बनाकर बरसाते हैं मस्त फुहार आ गये बादल लेके उपहार समीर गा रही मीठी मल्हार सौंधी-सौंधी...

  • इंतजार 

    इंतजार 

    पल-पल किया इंतजार सदियों से बीते क्षण-क्षण कर-कर इंतजार पतझड़ भी बीत गया | आ गया सावन मन भावन तुम मिलो प्रिये… इस तरह टूटे न मिलन का सिलसिला | तेरे इंतजार में, बर्बाद हुआ योवन...

  • हमसफ़र

    हमसफ़र

    वे कल तक थे हमसफ़र आज जुदा- जुदा हो गये सुहानी सुबह, हंसी शाम अब सब अनमने हो गये रोज मिलते, साथ चलते रुठे – रुठे सनम हो गये दोष बस इतना सा हमारा वादा किया,...

  • लघुकथा – हाय

    लघुकथा – हाय

    मोबाइल फोन पर हरेलाल गिड़गिडाये जा रहे थे | उनकी आँखों में आये आँसू और मुरझाये चेहरे, सूखे होठों से साफ पता चल रहा था कि हरेलाल पर दिन दहाडे बिजली गिरी है | चौका (गांव...