राजनीति

अनुच्छेद 370 समाप्त :अब देश भर में एक निशान एक विधान

देश की संसद ने एक ऐतिहासिक फैसले के तहत जम्मू-कश्मीर के बहुचर्चित एवं विवादित आर्टिकल 370 को अब निरस्त कर दिया है। मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के प्रथम संसद सत्र के दौरान बीते 5 अगस्त 2019 को राज्यसभा में ऐतिहासिक ‘जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019’ पेश किया जिसमें जम्मू कश्मीर राज्य से संविधान का […]

पर्यावरण लेख सामाजिक

जल प्रलयः बाढ़ से कराहता हिंदुस्तान

भारत में एक बार फिर से जलप्रलय ने अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है और उफनते नदियों के जल से उत्पन्न हुए बाढ़ ने असम, बिहार समेत समूचे पूर्वोत्‍तर को अपनी चपेट में ले लिया है। बाढ़ की मार से लोगों का जीना दुश्ववार हो गया है। प्राप्त खबरों के मुताबिक असम में अबतक […]

कविता पद्य साहित्य

योग की महिमा

जिस ध्यान मार्ग पर चलकर शंभू महादेव कहलाएं, जिस योग ज्ञान के बल पर मुरलीधर ने गीता के सार सुनाएं। जिस पथ पर चलकर योगी पुरुष से महापुरुष बन जाए, जिस ज्ञान के बल पर भारत विश्व में दमखम अपना दिखाए। आओ हम भी मिलकर आज उसकी जयकार लगाएं, चलो हम भी योग करें और […]

लेख सामाजिक

जनसंख्या विस्फोट: एक गंभीर चुनौती

इस नए दशक में हम एक नए भारत का संकल्प लिए आगे बढ़ रहें हैं। आज हमारी महत्वाकांक्षा भारत को एक महाशक्ति के रूप में स्थापित करने की है। हम एक बार पुणः अपने देश को विश्वगुरु के आसन पर विराजमान देखना चाहते हैं। पर यह लक्ष्य इतना आसान नहीं है क्योंकि देश में बेतहाशा […]

राजनीति लेख

2019 आम चुनाव: कौन कितने पानी में

सत्रहवीं लोक सभा के गठन के लिए आम चुनाव 2019 का विगुल बज चुका है, देशभर में 11 अप्रैल से 19 मई के बीच 7 चरणों में मतदान होंगे। और चुनाव परिणाम 23 मई को आएगा। आम चुनाव की इस घोषणा के साथ ही सभी राजनैतिक पार्टियां अपने-अपने स्तर पर चुनाव की तैयारियों में जुट […]

कविता पद्य साहित्य

बांध मुझे वह राखी तू

बांध मुझे वह राखी तू कर्मपथ पर बढ़ता जाऊं। अपने विजय पताका से कुल का मैं सम्मान बढ़ाऊं। बांध मुझे वह राखी तू जिससे अभेद शक्ति पाऊं। जग की हर स्त्री का सदा ही मैं सम्मान बचाऊं। बांध मुझे वह राखी तू जिससे मैं अमर वर पाऊँ। देश की रक्षा की खातिर सहर्ष अपना सर्वस्व […]

सामाजिक

शिक्षक दिवस की प्रासंगिकता

भारत परंपराओं का देश है और इन परंपराओं के बीच गुरु-शिष्य की परंपरा हमारे देश की एक बहुत पुरानी तथा सर्वमान्य परंपरा है. प्राचीन काल से ही भारत गुरु-शिष्य की इस परंपरा को लेकर पूरे विश्व समुदाय के आकर्षण का केंद्र रहा है. हमारे यहाँ एक से बढ़कर एक गुरुओं ने जन्म लिया है और […]

राजनीति लेख

कांग्रेस को आत्ममंथन की जरूरत

2014 के आम चुनाव में राष्ट्रीय राजनीति में कदम रखते ही नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस मुक्त भारत का नारा दिया। और कांग्रेस ने मोदी के इस नारे का जमकर माखौल उड़ाया। पर जैसे ही आम चुनाव के नतीजे आएं सब हक्के-बक्के से रह गए; क्योंकि सत्तर सालों में कांग्रेस की यह सबसे बड़ी दुर्गति थी। […]

कविता पद्य साहित्य

नेतागिरी

चलो जीत गए हो तुम और हार गए अब हम। देखो मुहब्बत का वो अफसाना भी कहीं हो गया है गुम। तुम्हारी जीतने की जिद्द ने हमें हर बार हराया है। हम अच्छे-भले इंसानों को कट्टरपंथ सिखाया है। पर इतने से भी दिल न भरा और तुमने नया कुचक्र चलाया। जाति की दीवार खड़ी की […]

कविता पद्य साहित्य

तुम बिन

अधूरा हूं तुम बिन पर उम्मीद है तुम एक दिन आओगी कहीं से अचानक आकर मुझसे टकराओगी। जानोगी मेरा हाल और मुझे देख मुस्कुराओगी शायद उस दिन तुम न चाहते हुए भी मेरी बन जाओगी। मेरा सुख-दुःख बांटोगी मेरा जीवन मधुर बनाओगी और मेरे हृदय में बस मेरी काव्य धारा बन जाओगी। फिर लिख डालूंगा […]