राजनीति

मुजफ्फरपुर की निरीह बेटियाँ और सत्ता का क्रूर चेहरा

वर्तमान समाज और देश की हालात का जायजा, सुदर्शन लिखित कहानी के उस उद्धरण से शुरू कर रहा हूँ ,जब बाबा भारती ने छद्म अपाहिज बने डाकू खड्ग सिंह ,उनके प्राण से भी प्रिय, प्यारे घोड़े को झूठ का सहारा लेकर , अपाहिज बनकर ,धोखा देकर ,उसे लेकर भागता है ,तो बाबा भारती का यह […]

सामाजिक

अंधविश्वास परोसते ये समाचार पत्र

भारत के कुछ राष्ट्रीय ,जागरूक और निर्भीक कहे जाने वाले समाचार पत्र ,आज के उन्नत वैज्ञानिक युग में भी आश्चर्यजनक रूप से अपने पत्र के प्रथम पृष्ठ पर अंधविश्वास और ढोंग को बढ़ावा देने वाले विज्ञापन प्रकाशित कर रहे हैं । उस विज्ञापन में इतनी भ्रामक और अंधविश्वासी बातें लिखीं हैं कि यह विश्वास नहीं […]

कहानी

स्मार्ट सिटी और बेबस गौरैया की कहानी

एक दिन एक गौरैया अपनी पड़ोसन गौरैया से बोली, “बहन! कल, रघु काका, जिनके घर के छप्पर में हम कईयों के घोसले हैं, वे पास के खपरैले वाले मकान में रहने वाले, इन्द्र देव चाचा से बता रहे थे, कि ये सरकार हम लोगों के गाँव की जमीन पर जल्द ही एक स्मार्ट शहर बनाने […]