समाचार

साहित्य अर्पण मंच पर स्वतंत्रता दिवस व बसंत पंचमी के उपलक्ष में काव्य गोष्ठी सम्पन्न

स्वतंत्रता दिवस व बसंत पंचमी एक अनूठा संयोग जिसका उत्साह सभी में देखने को मिला। फिर भला कवि कैसे पीछे रह सकते हैं…इसलिए साहित्य अर्पण मंच की व्यवस्थापिका आ०नेहा शर्मा जी, जो 2018 से निरंतर हिन्दी साहित्य के लिए हिन्दी के पथ पर अग्रसर हैं, उन्होंने काव्य गोष्ठी करने का निर्णय लिया और यह एक […]

समाचार

नूतन गर्ग को मिला शब्द साधिका सम्मान

आदरणीय स्वर्गीय श्री ‘जी वी जी कृष्णमूर्ति (पूर्व चुनाव आयुक्त) जी’ के जन्मदिवस पर उनको याद करते हुए 19 नवंबर 2022 को ‘खबरों का सफर एवं नेशन केयर’ के सौजन्य से ‘ गांधी पीस फाउंडेशन दिल्ली’ में  सम्मान समारोह आदरणीय रामानुज सिंह ‘सुन्दरम’ जी द्वारा आयोजित किया गया। जिसमें पूरे देश से सभी क्षेत्रों में […]

लघुकथा

नई उछाल

घर की रसोई से भीनी-भीनी ख़ुशबू आ रही थी। राहुल का पढ़ाई में भी मन नहीं लग रहा था। उससे रहा नहीं गया, थोड़ी देर बाद रसोई में प्रवेश करता है और माँ से पूछता है “माँ आज कोई त्योहार है क्या?” “नहीं तो!” माँ खीर बनाते हुए बोलती हुई… “फिर तो पक्का कोई घर […]

विविध समाचार

नूतन गर्ग को मिला लघुकथा श्री सम्मान अविस्मरणीय यादें…

माधवराव स्प्रे स्मृति समाचार पत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान परिसर के लघुकथा शोध केन्द्र भोपाल में आ० कांता राय जी के मार्गदर्शन में आयोजित अखिल भारतीय लघुकथा सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें पूरे देश से क‌ई वरिष्ठ साहित्यकार व पत्रकार सम्मिलित हुए। सभी ने लघुकथा के संदर्भ में अपनी बात सबके समक्ष रखी, जो […]

कथा साहित्य लघुकथा

अपने अपने दायरे

  आफिस से घर आते ही, जैसे घर पर पाँव रक्खा, मोबाईल की घंटी बजनी शुरू “टिऱन टिऱन” रोज़ ऐसे ही होता था। न खाने का कुछ समय, न चाय का, न ही किसी और काम का। बस या तो मोबाईल की घंटी बज जाती या वाट्सअप, फ़ेसबुक का खेल ज़ारी रहता। नीरा जो पूरे […]

समाचार

“अध्यवसाय” लघुकथा संग्रह लोकार्पण

मेरा लिखा पहला लघुकथा संग्रह “अध्यवसाय” “प्रखर गूंज पब्लिकेशन रोहिणी दिल्ली” से प्रकाशित होकर आ गया है। जिसमें मैंने 88 लघुकथाएं शामिल की हैं। आ० मुदित गर्ग जी “आयकर विभाग दिल्ली”, आ० उमाकांत भारती सर संपादक “पलाश पत्रिका” बिहार, आ० आचार्य संजीव वर्मा सलिल सर “विश्ववाणी हिंदी संस्थान जबलपुर, आ० बीजेंद्र जैमिनी सर “भारतीय लघुकथा […]

लघुकथा

श्रद्धांजलि

“मेरा प्यारा बच्चा, छत पर क्यों ग‌ई थी? इतनी जल्दी क्या थी दुनिया छोड़ने की!” अनगिनत सवाल पकड़ बनाते हुए… मीनू कहती जा रही थी और आंखों से पानी निरंतर बहते झरने की तरह अपनी रफ़्तार पकड़े हुआ था। कभी गले से लगाती, कभी कंपकंपाते हाथों से उसकी आंखें बंद करती। परंतु आंखें बंद ही […]

लेख स्वास्थ्य

ओमिक्रोन कोविड

  कोविड का नया रूप ओमिक्रोन हर घर में आएगा। कोशिश कीजिए कि यह हर घर में यह एक साथ न आये , इसलिए हमे बचाव के नियमों का पालन करना जरुरी है I नियम तो शायद हर व्यक्ति जानता ही है, क्योंकि अब नियमों के साथ 2 साल रहते हुए आदत सी हो गई […]

क्षणिका

#महरूम

“हे परवरदिगार कभी महरूम न करना मुझे, इस प्रकृति प्रेम, जीव-जंतुओं के प्रेम से, अपनी मानवता के प्रति समर्पित भाव से, मैं जिंदगी भर रहूंगी आपकी शुक्रगुजार।” — नूतन गर्ग (दिल्ली)

कविता

सुहागिनों का पर्व करवाचौथ

  कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की चतुर्थी, चंद्रमा को अर्घ्य देकर करते पारण, उपवास के बाद भोजन करने का है विधान, इसी का नाम है करवाचौथ। करवाचौथ और कर्क चतुर्थी, होता इसका पर्याय, चंद्र‌उदय तक बिना पानी पिए रख उपवास, पुण्य संचय करना होती इसकी विधि। सुहागिनों का व्रत पर्व होने के नाते, यथासंभव और […]