Author :

  • कोयल का गीत

    कोयल का गीत

    कोयल का गीत भीषण उष्णता के बीच सूरज के तेवर भी जहाँ रोक न सके कोयल की कूक वह हर पल अपना राग सुनाती बिना रूके बिना डरे वह अपने घरोंदे में खुश है आम्र कुंज...

  • खत

    खत

    खत (1) अब कहाँ कोई लिखता है खत न ही कोई करता है इंतजार न अब अपनों से गिला न परायों से कोई शिकवा कहाँ वह भावनाओं का समन्दर जो दिल से उतरकर अश्रु बन नयनों...


  • गोद की शिफ्टिंग का सवाल

    गोद की शिफ्टिंग का सवाल

    चाहे इस गोद में रहे चाहे उस गोद में, सवाल तो साज-सम्भाल का है चाहे बात बेजान बूतों ,प्रतीकों,स्मारकों की हो, चाहे लोगों की बेजान हो चुकी आत्माओं के कारण जन्में अवांछित समझे गए शिशुओं की,इनकी...

  • लघुकथा -स्टेण्डर्ड

    लघुकथा -स्टेण्डर्ड

    देखिये मिसेस रस्तोगी,मैंने आपही के कहने पर चमकी को इस वाली बीसी में मेम्बर बनाया था।आपही ने तो कहा था कि पिछली वाली बीसी में केवल बारह मेम्बर थे।इस बार कॉलोनी के कम से कम बीस...