Author :

  • गीतिका

    गीतिका

    संग बिताया जमाना हमसे भूला न जायेगा ! किये वादे जो तुमने हमसे कौन निभायेगा!! मैने गलियां करी गुलजार तुम्हारी रो रो कर ! यही सोचकर अक्सर दिल मेरा घबड़ायेगा !! कत्ल करने से पहले तुमने...

  • गीतिका

    गीतिका

    हसरतो को पूरा हो जाने दे ! घड़ी भर को खुद मे खो जाने दे !! कर लूंगी मै मेरा इश्क मुकम्मल ! दिल का दर्द तो मुझे सुनाने दे !! बैठ मेरे पास मेरे शरीके...

  • गीतिका

    गीतिका

    हुई अंजुमन मे आपकी रात आधी ! रह गई मुलाकात आधी बात आधी!! हाथ जो बढ़ाया हमने खफा हो गये! महफिल से हुई रूखसत बारात आधी!! नजरे उठायी जो बहकने लगे कदम! खता हो गई थी...

  • गीतिका

    गीतिका

    सरे महफिल यूं मुस्कुराना गजब हो गया ! नग्मे गाकर उनको मनाना गजब हो गया !! खो गई वो बस्तियां खो गये वो काफिले ! मिलकर उनको रिझाना गजब हो गया!! इश्क तो कीजिये रिहाई नही...

  • गीतिका

    गीतिका

    इतना न हमे याद आया करो हर जगह न यूं सताया करो रोज होती है लड़ाई हमसे प्यार फिर न जताया करो घड़ी दो घड़ी जहन से मेरे दूर कही चले जाया करो मचल उठती है...

  • *गीतिका *

    *गीतिका *

    मै तेरे करीब आने से पहले ! रोई बहुत मुस्कुराने से पहले !! जलती रही मै शामो-सहर ! आया कहां जल जाने से पहले !! बनकर मै मोम पिघलती रही ! ठंडक कहां मुझको जमाने से...

  • गजल

    गजल

    लौट आओ कि शाम ढल न जाये वक्त है मुकम्मल बदल न जाये काटी है राते हमने करवट बदल कर इन्तजार मे तेरे दम निकल न जाये भूल पाना मुमकिन नही अब तुमको टूटकर कही ये...

  • *गीतिका*

    *गीतिका*

    तेरे तसब्बुर मे मेरा अक्स बनाये रखना! उम्मीदो के दिये दिल मे जलाये रखना !! जां मेरी कोई छाया हम पर पड़े न भारी! मुझे धड़कनो मे अपनी बसाये रखना !! मौत आने तक यूं ही...


  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    याद जो आयेगी तेरी ! खुद को खफा कर लूंगी ! बात जो आयेगी तेरी ! खुद से बयां कर लूंगी !! कर लूंगी खुद ही फैसला! मैं वादे जफा कर लूंगी !! नहीं तेरी जरूरत...