Author :

  • “हेलमेट सिर पर रखो”

    “हेलमेट सिर पर रखो”

    आस-पास होने लगा, सड़कों का विस्तार। लेकिन इससे हो गयी, बहुत तेज रफ्तार।। सड़क किनारे लगेंगे, छायावाले वृक्ष। इस पर भी अब टिप्पणी, करने लगा विपक्ष।। स्वच्छ बने वातावरण, सुधरें सबके हाल । पेड़ों पर खिल...

  • शीत की बयार है

    शीत की बयार है

    हाड़ कप-कपा रही, शीत की बयार है। मेरे बाग में भी आज आ गया निखार है।। शीत से भरी लहर, सभी को सता रही। बाल-वृद्ध को स्वयं का खौफ भी बता रही।। थोड़े दिन की बात...


  • दोहे – “रखो रेडियो पास में”

    दोहे – “रखो रेडियो पास में”

    भूल गया है रेडियो, अब तो सारा देश। टीवी पर ही देखते, दुनिया के सन्देश।। लाये फिर से रेडियो, मेरे भाई साब। मिलता हमको है नहीं, इसका कोई जवाब।। सुनने में अच्छे लगें, भूले बिसरे गीत।...