अन्य लेख

मन की स्वच्छंदता

प्राचीन उपवास में उपवासवाले दिन से एक दिन पहले ‘अरवा’ यानी बिना नमक के ‘अरवा’ भोजन ही किये जाते थे, फिर उपवासवाले दिन ‘सूर्यास्त’ तक जल तक ग्रहण किए बिना उपवास रहते थे यानी निर्जला, फिर उपवास फलाहार से तोड़ते थे ! अब डिजिटल उपवास हो गया है… स्त्रियाँ घर में काम के डर से […]

क्षणिका

आधा प और यार

देश की गरीबी लॉकडाउन में पता चल रही ! भोजन व रुपये लेनेवाले 95%कथित गरीब हैं, यह देनेवाले 5% मौसमी समाजसेवी और सरकार कथित अमीर हैं? ×××× महामूर्ख तो एक ‘डैडी’ थे, जो उस युग में भी लाडली ‘बेटी’ की सरेआम ‘बोली’ लगा रहे थे ! स्वयंवर नॉट स्वयंवधू ! ×××× कोई तो होगी, जो […]

क्षणिका

सिर्फ एक वोट

राजस्थान के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डॉ. सी पी जोशी सिर्फ़ एक वोट से चुनाव हार गए थे और अबतक सीएम नहीं बन पाए ! ×××× कोई तो होगी, जो हमको समझेगी ! बड़ी दूर से लौटे हैं, आधा ‘प’ ‘यार’ का तोहफ़ा लाए हैं ! ×××× चाँद सा मुखड़ा क्यों शरमाया ? ‘हाथ’ मिले […]

अन्य लेख

एक ठो लाइफबॉय साबुन !

क्या यह सोचना उचित होगा कि आने वाली हर पीढ़ी बाबा साहब का अंधानुकरण ही करें या मान्यवर कांशीराम के मार्ग पर ही चले ? समाज के विकास की सतत प्रक्रिया होती है, इसलिए नए तथ्यों के आलोक में हमेशा नई रणनीति के साथ ही कुछ नया करना पड़ता है। बाबा साहब ने महामना ज्योतिबा […]

अन्य लेख

अनुत्तरित अंतर्द्वंद्व !

भूदाता के नाम हटाकर इसतरह के नामकरण उचित नहीं है! महान शहीद और उनके परिवार को सादर नमन करते हुए ‘उच्च विद्यालय, मिर्जापुर-बघार’ का नामकरण उनके नाम से हो, तो श्रेयस्कर होगा! क्या ‘रामेश्वर यादव मनिहारी महाविद्यालय’ पर भूदाता मानेंगे? सादर नमन! ×××× महात्मा गाँधी सदैव ‘प्रासंगिक’ है, किन्तु इसका मतलब यह नहीं है कि […]

अन्य लेख

अल्बर्ट आइंस्टीन और मेरी ‘आजुक’ डायरी

विश्व धरोहर दिवस (वर्ल्ड हेरिटेज डे) की शुभमंगलकामनाएँ ! ×××× 2020 के लॉकडाउन में पूर्व PM और पूर्व CM के द्वारा शादी-समारोह का आयोजन हुआ ! [साभार : दै. जागरण/18.04.’20] शादी की इतनी जल्दबाजी क्यों ? जब लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग (वर्ष 2020) है, तब पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री ने इसका उल्लंघन कर ‘कोरोना’ […]

अन्य लेख

असत्यक समाज के फ़रेब में

“असत्यक, भ्रष्टक, हिंसक, फरेबी जैसे बेटे –  बेटियों के लिए अनशन करते – करते थक जाते, किन्तु समस्या जस की तस लगी और बनी रहती और आप पल – पल परेशान हो उठते ! ….तो कहिये, क्या दूँ मैं ? सिर्फ मैं अपनी हताशा का चिरागभर जलाने के सिवाय !” वाकई में जो सरकारी सौजन्य […]

कविता

मन्नै गुल्लक फोड़ी, कोई खबर नहीं !

विलासिता प्रदर्शित करनेवाले चीजों को व्यवहार करनेवालों को ‘पद्म अवार्ड’ नहीं मिलनी चाहिए, चाहे वो कोई भी हो ! ×××× अभी सांसत में है जान, फिर भी कहते- मैं हिन्दू, तू मुसलमान ! कोरोना से मिट रहे ये पहचान, तो क्यों न बने हम इंसान ! ×××× घर बैठे आविष्कार कीजिए, फिर पढ़ने की जरूरत […]

क्षणिका

मर्जी आपकी, खुदगर्जी मेरी

मर्जी आपकी, खुदगर्जी मेरी ! अगर आलोचना बर्दाश्त नहीं कर सकते, तो ऐसे मित्र मुझे भी नहीं चाहिए ! ×××× पिछले साल लॉकडाउन में फोन पर किसी से वार्त्तालाप नहीं हो सकी है.. टीवी नहीं है, बीवी नहीं है, घर पर दूरी लिए हूँ और पुस्तकें ही सहारा है…. ×××× महामारी से खुदा नहीं बचाएंगे, […]

इतिहास

डॉ. राधाकृष्णन और श्री चंद्रशेखर

देश के प्रथम उपराष्ट्रपति और द्वितीय राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की पुण्यतिथि पर सादर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि ! ध्यातव्य है, तमिलनाडु से दो राष्ट्रपति हुए हैं, दोनों विद्वान । दूसरे ‘कलाम’ साहब थे…. दोनों कई प्रसिद्धि प्राप्त पुस्तकों के लेखक रहे हैं। देश के 9वें प्रधानमंत्री “चंद्रशेखर” के जन्मदिवस पर सादर नमन और भावभीनी श्रद्धांजलि […]