Author :

  • मेरे अंधेरे

    मेरे अंधेरे

    # मेरे अंधेरे १. मैं चाहता था तेरा वो आइना किरदार मेरी इसी चाहत ने तुझे पत्थर बना दिया २. तेरी आरजू में गुमराह हुआ हूँ मैं अपनी राह चलूँ भी तो कैसे ३. बुरा होके...

  • तुम बिन

    तुम बिन

    # तुम बिन बिन फूल-पात की डाली सी मैं तुम बिन खाली खाली सी जिसके आगे है घना अंधेरा मैं ढ़लती सांझ की लाली सी यादों में खोजूँ खुशबू रंगत एक बिखरे बाग के माली सी...

  • गजल

    गजल

    गज़ल _____________________________ सलीके से छुपा रहीं हर अज़ाब आपका हैं ये मुस्कुराहटें या हिजाब आपका शाद हुस्न बेरहम क़यामती निगाह है कत्ल कर गया मेरा ये शबाब आपका इकअदा में है कज़ा इक अदा में जिंदगी...

  • रावण हत:

    रावण हत:

    # रावण हत: राम-रावण संग्राम का बारहवां दिन बीता है। श्रीराम के शिविर में मंत्रणा हो रही है । सुग्रीव के मुख पर चिंता स्पष्ट दिखाई दे रही है । व्यग्र भाव से वे कहते हैं...


  • कालिका स्तुति

    कालिका स्तुति

    # कालिका स्तुति तू भव्य भ्रांत भामिनी तू काव्यकांत कामिनी तू दिव्य दीप्त दामिनी तू शुभ्र सौम्य शामिनी ….. नमन तुम्हे , नमन तुम्हे ।। ….. नमन तुम्हे , नमन तुम्हे ।। तू क्रूद्ध क्रूर कालिका...

  • स्मृति शेष

    स्मृति शेष

    ******* स्मृति शेष ******* घावसमय के निठुर बड़े , रिसते हैं प्रतिपल हन कर स्मृति -शेष प्रियवर के अब , ढलते हैं दृग -जल बन कर वो गर्म बिछौने सी बांहें , शीत सकल हर लेती...


  • हिंदी दिवस

    हिंदी दिवस

    भावों के शुभ संप्रेषण हित मैं इसका आभारी हूं । मातृभाषा हिंदी मेरी , मैं हिंदी का व्यवहारी हूं ।। हिंदी ही इतिहास मेरा हिंदी ही मेरा भविष्य है इसका रंगों से सराबोर मेरा सारा परिदृश्य...

  • अश्रुबूंद

    अश्रुबूंद

    इसरो के चेयरमैन श्री आर के सिवन को प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा गले लगाते हुए ली गई चित्र संभवतः इस वर्ष की सबसे सुखद तस्वीर है जो अतीव दुखद क्षणों में ली गई है । आजकल...