Author :


  • जानते हैं सब

    जानते हैं सब

    क्या है इस संसार में, जानते हैं सब। एक ही मालिक है सबका, ईश्वर, कहो या रब गर है भाई हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई फिर ये आपस में हैं करते क्यों प्रतिदिन जंग क्या है इस...

  • हे मां मुझे आशीष दो

    हे मां मुझे आशीष दो

    हे ज्ञानदायिनी माता देती रहना आशीष सदा। हे मां तेरे चरणों में ही झुकता रहे यह शीश सदा, मैं छोड़ सकू सभी अवगुण दे दो मां ऐसी शक्ति, ऐसा मुझको वर दे दो मां तेरा सदैव...






  • हाय – हाय ये मजबूरी

    हाय – हाय ये मजबूरी

    मौसमी बरसात में मेढक मदारी हो गए। दुराचारी थे रात मे, प्रातः पुजारी हो गए, चार ही साल तो हुए ,दिखायी क्या हमने एकता , जालीदार टोपी पहनने वाले, मंदिर जाने को बाध्य हो गए, मौसमी...