Author :

  • दाम्पत्य सूत्र

    दाम्पत्य सूत्र

    दिलों का है मिलना ही सबसे ज़रूरी, बाक़ी ना रहती है फिर कोई दूरी. प्रणय-पथ पे पग तुम बढ़ाओ निरन्तर, मिटाते चलो नित जो आएं कुछ अन्तर.. सम्भोग में भाव ही है प्रबलतम, जबरन मनुज नहीं...

  • बौद्ध मत में  अंधविश्वास

    बौद्ध मत में अंधविश्वास

    आजकल अम्बेडकरवादी बौद्ध मत को वैज्ञानिक बताते हैं. यह बौद्ध अन्धविश्वास को भूल जाते हैं. चित्र में श्रीलंका के मन्दिर का दृश्य है. इसमें बुद्ध का दांत है जिसकी आज भी पूजा की जाती है. इस...

  • मोदी के मतलब

    मोदी के मतलब

    प्राचीन सभ्यताओं में से भारतीय सभ्यता ही सम्भवतः एकमात्र जीवित सभ्यता है, किन्तु विकृत रूप में। महाभारत युद्ध से भी लगभग १००० वर्ष पूर्व से यह ह्रास को प्राप्त होने लगी थी, अर्थात ६००० वर्ष पूर्व से। उसके...



  • ग्रीष्मकालीन कवि गोष्ठी सम्पन्न

    ग्रीष्मकालीन कवि गोष्ठी सम्पन्न

    स्थानीय भगवती परिसर मालवा होजयारी मंे गर्दभ राग संस्था द्वारा हास्य कवि गोष्ठी सम्पन्न हुई। आमंत्रित कविगण सर्वश्री इसरार मोहम्मद खान, नरेश सोनी पत्रकार, सुरेन्द्र सर्किट, सौरभ चातक, मामा रामचन्द्र रघुवंशी, प्रमोद तोमर, नरेन्द्र शर्मा, सुधीर...


  • भगवान महावीर क्रांतिकारी युगपुरुष थे

    भगवान महावीर क्रांतिकारी युगपुरुष थे

    भगवान महावीर की जयन्ती मनाते हुए हमें महावीर के जीवनदर्शन को जीवनशैली का संकल्प लेना होगा। वे एक क्रांतिकारी युगपुरुष थे, उनकी क्रांति का अर्थ रक्तपात नहीं! क्रांति का अर्थ है परिवर्तन। क्रांति का अर्थ है...