कविता

बधाई हो

बधाई हो यशोदा मैया बधाई हो बधाई, नन्द घर लाला आया बधाई हो, लाला आने की सुन मैं आई , बधाई हो , बधाई मैया लाला है आया तेरे आँगन, बधाई दे दे मुझे ।। हीरा , मोती ,पन्ना , मानक, कुछ न चाहिए मुझे , लहँगा , चुन्नी , गोटा , , न चाहूँ […]

कविता

पुकार

जन्माष्टमी पर्व की सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं । कन्हैया आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें।।💐💐💐 ओ धेनु चरइया कान्हा , माखन चोर कान्हा , असुरों का तुम करते , उद्धार कन्हैया रे, तेरी लीला है अपरम्पार, कैसे करूँ मैं बखान, कम है बोल मेरे पास, तू है इतना महान कान्हा, गोपियों के वस्त्र हरण किये, […]

कविता

मंजिल

मंजिल दूर होती हैं तब, कदम तेजी से बढ़ते हैं, ठोकर खा गिरते हैं, सम्भल कर उठते हैं, राह में मिलते राही भी, कभी देते साथ तो, कभी छोड़ देते साथ हैं, फिर भी पाना है लक्ष्य जिसको, वो रुकता नहीं ठहरता नहीं, दुःखी नहीं होता हैं, साथ छोड़ने वालों के लिए, वो तो राही […]

कविता

मेरी कहानी

मेरी जिंदगी मैं एक औरत हूँ , क्या हैं मेरी कहानी, शायद हैं,या नहीं हैं, बचपन में अपनी चहक से, चहकाती बाबुल का आँगन। शादी के बाद मेरी हँसी से, आबाद होता पिया का घर आँगन। ढ़लती उम्र में स्नेह,प्यार से, वृक्ष बन वंश बेल की सींचती हूँ। बस यही है मेरी यानी , हर […]

कविता

मैं कश्मीर हूँ

मैं कश्मीर हूँ।।।। मेरा मस्तक दमक रहा हैं, सूर्य की रश्मियों से आज, मैं था भारत का अभिन्न अंग , कहने को मात्र पर था नहीं। होते रहते थे दंगे आतंक , दामन में मेरे अक्सर ही, मैंने लूटते देखा सब कुछ, ख़ौफ़नाक होता मंज़र वो। आज मेरे ही बेटों ने मुझे, बनाया अभिन्न अंग […]

कहानी

अनोखा सावन

” अनोखा सावन ” ” दो तीन दिन से आप बहुत खुश लग रहे हो , कुछ खास बात है क्या”?? ” नहीं, नहीं तो मैं तो हमेशा जैसा रहता हूँ वैसा ही हूँ”। ” अच्छा सुनो ,देखो मैं कितना भूलने लगा हूँ। मुझे इस इतवार को बाहर जाना है । किसी प्रोग्राम में “। […]

कविता

बदलते मौसम की क्या बात करे

  बदलते मौसमों की क्या बात करें ।। आज वो बात कर रहे है हमसे, बदलते हुए मौसम की देखो , जो खुद मौसम से पहले बदल गए ।। मौसम बदलते है अपने समय पर, वो तो इतनी जल्दी बदल गए जैसे, एक सांस से दूसरी सांस आती है ।। मौसम तो बदलने पर फिर […]

लघुकथा

लक्ष्मीबाई

” तुम सब डरी हुई क्यों हो ……”? कोई जवाब नहीं सिर्फ खामोशी …… ” देखो , ये मेरा काम है ,सृष्टि को चलाने के लिए तुमको जाना होगा । मन मेरा भी नही तुम सबको भेजने का पर मज़बूर हूँ “।। कोई भी जवाब नही दे रही सभी डरी सहमी एक दूसरे के पिछे […]

कहानी

सौदा

सौदा ” यार… क्या पटाखा हैं वो…… ” ” अबे किसकी बात कर रहा हैं, साफ साफ बोल ” ” अरे.. वो जो नयी नयी आयी हैं……, क्या लगती है, पतली कमर, बलखाती चाल, और…. ” ” और क्या??? आगे तो बोल ” ” हाँ, हाँ… अरे क्या बोलु आखें बड़ी बड़ी, काले काले बाल […]

कविता

मेरे पापा

क्या कहूँ आपके लिए, शब्द कम हो गए आज, कभी आता गुस्सा है, कभी आता है प्यार, आज भी याद है सब कुछ, जो जो भी हुआ बचपन में, कितना कठोर रहते थे , कभी मदद नही करते, जब जब पुकारा आपको, आप नही आये मदद को, खुद करो सब अपने से, कोशिश कर खुद […]