Author :




  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    फिरकापरस्तियों की होगी हार एक दिन जीतेगा देखना जरूर प्यार एक दिन खुद को शिकारी मानते हैं जो बहुत बड़ा वे भी बनेगें देखना शिकार एक दिन तुमको यक़ीन हो न हो मुझे यक़ीन है फिर...





  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    हदों से यूँ सितम की पार जाकर याद रखना सुकूं मिलता नही है दिल दुखाकर याद रखना खड़ा है झूठ की बुनियाद पर ऊँचा मकां जो गिरेगा एक दिन ये भर भराकर याद रखना वो जिनके...