Author :


  • रुको मत !

    रुको मत !

    ये खटपट वाले रिश्ते भी जब मौन होते हैं तो मन को छटपटाहट होती है जाने क्या हुआ इनका लड़ना-झगड़ना ही साबित करता है जिंदगी में बाकी है अभी बहुत कुछ करना किसी को मनाना है...

  • जब माँ साथ होती है !!!!

    जब माँ साथ होती है !!!!

    जाने कहाँ छिप जाती है उदासी, ख़ामोशी, और तन्हाई जब माँ साथ होती है !!! … सारी मुस्कराहटों को पता होता है माँ की धड़कनों से हर कोना हँसता है और दीवारें जगमगाती हैं !!! परिचय...

  • मरहम के साये में !!!

    मरहम के साये में !!!

    कड़वे शब्द कठिन समय में बस मरहम होते हैं जख्मो की ज़बान होती तो वो चीखते शोर मचाते आक्रमण करते मरहम के साये में दर्द नम होकर यूँ पसीज हिचकियाँ ना लेते!!!! … छलनी होती रूह...



  • होली है होली !!

    होली है होली !!

    प्रेम फागुनी मन के उत्सव में भीगता रहे ! .. रंग गुलाल चले भंग के संग मचाते शोर ! .. प्रेम फागुनी मन के उत्सव में भीगता रहे ! .. धरा ने खेला अम्बर संग रंग...


  • प्रेम जिंदगी का कवच !!!

    प्रेम जिंदगी का कवच !!!

    मुसाफि़र सी इस जिंदगी में जो किसी के साथ चलना जानता है जो साथ चलते-चलते किसी का हो जाना चाहता है जो किसी का होकर उसे अपना बना लेता है ऐसी पगड‍ंडियां सिर्फ औ सिर्फ प्रेम...

  • सपनों के लिये !!!

    सपनों के लिये !!!

    क्या आती है तुम्हे सपनो के लिये खरीदनी कोई उम्मीद क्या तुमने लगाई है किसी सपने को सोफि़याई क्रीम नहीं ना तो कैसे पूरे होंगे तुम्हारे सपने उनका जतन करना सीखो जिस दिन तुम प्यार से...