Author :

  • माँ भारती

    माँ भारती

    “देश की रक्षा के लिए किये जा रहे युद्ध में आज वीर सैनिक रघुवीर प्रताप सिंह की बहुत जरूरत महसूस की जा रही है, अभी भी रवानगी में कुछ दिन बाकी है! काश वो पहुँच ही जाये।”...

  • अनजानी राह

    अनजानी राह

    सतविंदर कभी अपनी माँ से एक दिन के लिए भी दूर नही गया। स्कूल भी जाता तो वापस आकर माँ से लिपट जाता था। बेहद शर्मीले स्वभाव का लड़का था सतविंदर। बुरे दोस्तों की संगत में ऐसा पड़ा कि...

  • छुआछूत -पेट पूजा

    छुआछूत -पेट पूजा

    भोजन की सख्त जरूरत महसूस की जा रही थी, सभी शिकारी थक चुके थे। वापस जंगल से शहर का लंबा रास्ता तय करने के लिए शरीर में ऊर्जा की अति आवश्यकता थी। “आप सब बहुत थके...

  • समर्पण

    समर्पण

    ,कौन हो तुम ! क्यों नेहा के घर में चोर की तरह घुसे हो! मीरा काकी ने उस अनजान आदमी के सर पर पीछे से वार कर के नेहा को उसकी गिरफ्त से छुड़ाते हुए कहा। ,अचानक...

  • करणी का फल

    करणी का फल

    आज सासु माँ की बहुत याद आ रही है , कड़ाके की ठंड में रात को दस बजे तक भी जब मैं अपनी व्यस्तता का बहाना बनाकर खाना नही बनाती थी,तो भी कभी कोई शिकायत नही करती...

  • जन्मदिन की पार्टी

    जन्मदिन की पार्टी

    न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रतीक शर्मा के बेटे के जन्मदिन का अवसर था। जाहिर सी बात है मेहमानो को तो निमन्त्रित करना ही था, प्रतीक की पत्नी जो जिला शिक्षा अधिकारी थी, चाहती थी कि बेटे का जन्मदिन चुनिंदा लोगो...

  • मार्गदर्शन

    मार्गदर्शन

    बाल विवाह का दंश झेल कर युवा हुई किरण, जीवन के दोराहे पर खड़ी थी। पति ने बचपन में हुए विवाह को मानने से इंकार कर दिया, घर वाले अभी भी आस लगाये बैठे थे कि काश...

  • लघुकथा : वही घटना

    लघुकथा : वही घटना

    करीब दो घण्टे से बाहर मूसलाधार बारिश हो रही थी और घर में बहू के तानों की बरसात बराबर चालू थी। रामनरेश जी को आज बहू के ताने विष बुझे तीर के समान कड़वे लग रहे थे। जब...

  • अस्तित्व….

    अस्तित्व….

    उस भीड़ वाले माहोल मे भी किरण का जैसे दम घुटने लगा| मेजबान अंजली किरण की परेशानी को कब से ही महसूस क रही थी| ”आपको कोई परेशानी है क्या?, अंजली ने किरण से पूछा| ”नहीं...

  • मकसद

    मकसद

    स्लेटी रंग की कॉटन की बारीक़ प्रिंट की साडी, आकर्षक नैन-नक्श,कलाई पर सुनहरे रंग की घड़ी में मिस रूपा का व्यक्तित्व अत्यंत सुंदर लग रहा था |फैशन डिज़ायनर रूपा का अपने बुटिक मे आते ही काम...