Author :

  • माँ

    माँ

    माँ जीवन की हर खुशी, माँ जीवन का गीत। माँ है तो सब कुछ सुखद, माँ है तो संगीत।। माँ है मीठी भावना, माँ पावन अहसास। माँ से ही विश्वास है, माँ से ही है आस।।...

  • गीत : पावस रानी

    गीत : पावस रानी

    अब तो गाओ पावस रानी,गीत सुहाने। नहीं चलेंगे अब तो कोई व्यर्थ  बहाने ।। बौछारों से कुछ ना होगा जमकर बरसो अब कुंये, नदी, तालाब भरे हों ऐसा हरसो तुम अब तो आ जाओ नगरी तुम,...

  • मुक्तक

    मुक्तक

    (१) प्यार की बातें करता हूं मैं ,प्यार ही मेरा पेशा है । पर उनकी क्या बात करूं मैं,जिनको सब कुछ पैसा है। प्यार से ही तो प्रियवर देखो मुरली का इतिहास बना, प्यार जहां है...



  • प्रणय गान

    प्रणय गान

    तेरे नयनों की भाषा ने,मुझको जीवन दान दिया ! सिसक-सिसक कर जीता था मैं,जीने का अरमान दिया !! मौसम अब रंगीन हुए हैं, दिशा आज मतवाली है उपवन महक रहा है देखो, खुशियों में तो माली...


  • तपते दोहे

    तपते दोहे

    विगत माह भी गर्म था, पर दुगना है जून। दिल्ली,बम्बई,आगरा,तपता दहरादून।। मौसम आतिश बन गया,जले नगर औ” गांव ! जीव सभी अकुला उठे,ढूंढ रहे हैैं छांव !! गर्मी का आक्रोश है,बिलख रहे तालाब ! कुंओं,नदी ने...


  • जय जनतंत्र की

    जय जनतंत्र की

    भारत के जनतंत्र की,गूंज रही जयकार। एक बार फिर से हुआ,मोदी का सिंगार ।। वह सच्चा सरदार है, जननायक,सरताज । इसीलिए फिर से हुआ, क़ायम उसका राज।। जनहित संवर्धित किये, लिया दिलों को जीत। इससे ही...