लेख स्वास्थ्य

पशु भी बीमार होते हैं – खुरपका मुंहपका रोग

बीमार हम और आप ही नहीं बल्कि पशु भी पड़ते हैं। बस अंतर यह होता है कि यदि वे घरेलू हैं तो फिर भी उनका उपचार हो जाता है, लेकिन आवारा हैं तो उपचार भाग्य भरोसे है। पशुचिकित्सालय पहुंचा दिए गए, तो इलाज हो जाएगा अन्यथा मृत्यु उनके लिए भी अंतिम सत्य है। कृषि वैज्ञानिक […]

लेख सामाजिक

बेटियों संबंधी नीतियों की सफलता हेतु जरुरी है गांवों में बाल लिंगानुपात का सटीक मूल्यांकन

भारत में असंतुलित बाल लिंगानुपात बच्चों के जन्म और लिंग आधारित भेदभावपूर्ण प्रथाओं का सबसे बड़ा प्रमाण है। हाल ही में प्रकाशित एक शोध में ग्रामीण स्तर पर बाल लिंगानुपात में सबसे अधिक भिन्नता देखने को मिली है।   शोध के अनुसार भारत में गांवों में बाल लिंगानुपात विविधता लगभग 96 प्रतिशत है, जबकि राज्य […]

लेख स्वास्थ्य

उचित आहार व्यवहार रखें टाइप 2 मधुमेह के खतरे से बचें

आहार जीवन की मूलभूत आवश्यकता है। उचित आहार उचित भोजन पर निर्भर करता है, जिसके अन्तर्गत आने वाले मुख्य अवयवों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन एवं वसा शामिल हैं।  इसके अलावा कम मात्रा में विटामिन एवं खनिज की भी आवश्यकता होती है। भोजन के द्वारा लिए गए इन जैव-रसायनों का उपयोग उनके मूल रूप में शरीर नहीं […]

हास्य व्यंग्य

अंडरएस्टिमेट करते रहिए और होते रहिए

अंडरएस्टिमेट शब्द यूं तो अंग्रेजी का शब्द है, लेकिन हमारे भारत में प्रायः सभी प्रदेशों की भाषाओं के साथ ऐसा घुलमिल गया है कि बहुत अपना सा हो गया है। हिंदी में अंडरएस्टिमेट का मतलब किसी व्यक्ति को कमतर आंकने से है। यह भी कह सकते हैं कि अंडरएस्टिमेट करना हम भारतीयों की एक प्रवृत्ति […]

स्वास्थ्य

विटामिन की कमी से ग्रस्त हैं स्वस्थ दिखने वाले शहरी लोग

एक नए अध्ययन से पता चला है कि भारत में स्वस्थ दिखने वाले अधिकतर शहरी लोग विटामिन की कमी से ग्रस्त हैं। हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय पोषण संस्थान के वैज्ञानिक 30-70 वर्ष के लोगों में विटामिन के स्तर का अध्ययन करने के बाद इस नतीजे पर पहुंचे हैं। इस अध्ययन में 270 प्रतिभागी (147 पुरुष और […]

पर्यावरण

ई-कचरे से सोना और अन्य धातुएं निकालने की नई विधि विकसित

तेजी से बढ़ रहे नए नए इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के साथ ही ई-कचरे के ढेर की समस्या भी बढ़ रही है। ई-कचरे में कीमती और हानिकारक दोनों तरह की सामग्री शामिल होती हैं, इसलिए इनके लिए विशेष पुनर्चक्रण प्रक्रियाओं की आवश्यकता होती है। भारतीय वैज्ञानिकों ने ई-कचरे से बहुमूल्य धातुओं को पुनःप्राप्त करने की एक अद्भुत […]

सामाजिक

कुशल भारत-कौशल भारत की ओर अग्रसर भारतीय युवापीढ़ी

कौशल और कुशलता किसी राष्ट्र की समृद्धि और खुशहाली के परिचायक होते है। खुशहाली संतोष पर निर्भर करती है और संतोष कौशल की सफलता पर टिका होता है। उच्‍च स्‍तरीय कौशल का सम्यक विकास किसी भी देश के आर्थिक और सामाजिक विकास की कुशलता और अंततः खुशहाली का सबसे बड़ा कारक होता है। लगभग दो […]

कविता

अपनी अपनी जड़ें

जड़ें तो सबकी होती हैं पुकारती भी हैं कभी कभी दे जाती हैं टीस सी रीढ़ की हड्डी पूरे में कहीं सिहर सी जाती है खिंचाव भी लगता है और बहुत मन करने लगता है दौड़कर जड़ों में समाने का पर पूरे पेड़ का परायापन रोक लेता है और हम कान बंद कर लेते हैं […]

सामाजिक

हिन्दी का प्रयोग क्यों और कैसे

अपने ही देश में जब कोई अपनी ही मातृभाषा के विषय में दो प्रश्न पूछता है कि हिन्दी का प्रयोग क्यों करें और कैसे करें, तब निःसंदेह यह एक लज्जाजनक और दुखद स्थिति होती है। हमारी हिन्दी लगभग स्वतंत्रता के बाद से ही इन हास्यास्पद प्रश्नों को झेलती आ रही है। सच्चे मातृभाषा भक्तों ने […]

विज्ञान

अश्वगंधा में औषधीय गुणों वाले जैवरसायनों को बढ़ाने में वैज्ञानिकों को मिली सफलता

अश्वगंधा का उपयोग 3,000 से अधिक वर्षों से भारतीय, अफ्रीकी और यूनानी पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों में किया जा रहा है। भारतीय और जापानी वनस्पति वैज्ञानिकों ने वर्मीकम्पोस्ट और उसके द्रवीय उत्पादों के उपयोग से अश्वगंधा की जीवन दर और इसके औषधीय गुणों के लिए जिम्मेदार विथेनोलाइड्स जैवरसायनों की मात्रा को बढ़ाने में सफलता पाई है। […]