Author :

  • गजल

    गजल

    कम भी नहीं है हौसले गिर भी पड़ी तो क्या हुआ है जिन्दगी के सामने बाधा खड़ी तो क्या हुआ। चल दूँ जिधर खुद रास्ता मिलता मुझे ही जाएगा टूटी अगर रिश्तों की इक नाजुक कड़ी...


  • नमन गुरु को

    नमन गुरु को

    “नमन गुरु को” भगवन तुम्ही ने ज्ञान अपना गुरुरूप में हमें भेजा है। मिले ज्ञान का भंडार सबको इसलिए धरा पर भेजा है। तू एक तेरे है रूप कई सबने जग में तुझे पाया है। लाने...

  • आओ हम नफरत करें

    आओ हम नफरत करें

    “आओ हम नफरत करे” आओ हम नफरत करें, सब मिलजुल ये संकल्प करें। नफरत की दुनिया में रहकर, नफरत से हम प्यार करें। नफरत करें उस पाप से, जो मानवता को निगलता है। भेदभाव और छुवाछूत...


  • यही आगाज है यारो

    यही आगाज है यारो

    बहर 1222 1222 1222 1222 नये सपने नयी राहें, कदम आगे बढ़ाने हैं। लगायेगी गले हमको, सफलता एक दिन यारो। जमाने को बताना है, पहल करके दिखाना है। कभी घबरा न तू चाहे, बलाएँ लाख हो...

  • फैशन

    फैशन

    बच्चे, जवान और अब बूढ़े भी, बड़े चाव से हिस्सा लेते है, मन को लुभाती, दिल हर्षाती, फैशन की दौड़ जिसे हम कहते हैं। खर्चे की परवाह नहीं रहती इसमें, मर्यादा की सीमा तोड़ सकते हैं।...

  • असम है मेरा सनम

    असम है मेरा सनम

    असम है मेरा असम, प्यारा है मुझको असम, हुआ जनम यहीं और यही करम, असम है मेरा सनम। है जब मुझको प्यार इससे, तो क्यूँ असम मेरा नहीं? जब जनम मरण की यही है भूमि, तो...

  • ब्याहता एक ऐसी भी है

    ब्याहता एक ऐसी भी है

    उन्मन मन, अर्थहीन जीवन, असाध्य पीड़ा हृदयविदारक, विषयासक्त के प्रति समर्पित, अबला एक नारी है। मनस्ताप अवर्णीय, आत्मकथा अकथनीय, दिनचर्या सामान्य रखने वाली, अविकल्पित एक कहानी है। अनभिज्ञ नहीं ज्ञाता हूँ, मैँ बेबस और लाचार, मातृत्व...

  • ऐ मेरे हमसफ़र

    ऐ मेरे हमसफ़र

    क्या खूब क़त्ल तुम हर रोज कर रहे हो न शक की कोई गुंजाइश न सबूत छोड़ रहे हो ऐ मेरे हमसफ़र बस ख़ौफ़ के खंजर हर रोज घोंप रहे हो। भय के आवरण तले दबी...