Author :


  • पानी पानी पानी

    पानी पानी पानी

    आज की है ये चीखो-पुकार पानी पानी पानी… जनता है परेशान, नेता हैं हैरान कहां से लायें पानी पानी पानी… नदी नाले बोर कुएं सभी हो चुके हैं खाली कहते हैं लोग कहां से लायें पानी...

  • डाॅ. आंबेडकर : एक विचार

    डाॅ. आंबेडकर : एक विचार

    ‘‘मैं केवल भारतीय रहूँगा। मेरी पहचान केवल एक भारतीय के रूप में होनी चाहिए। ….बस मंै इसी बात के लिये मर जाना चाहता हूँ। मैंने देख लिया है कि जब तक हम अपने को हिंदु, मुसलमान,...

  • प्रगति का आधार ‘नारी‘

    प्रगति का आधार ‘नारी‘

    भारत एक प्रगतिशील राष्ट्र है। प्रगतिशील राष्ट्र है तो यहाँ बाधाएँ, ऊँच-नीचता और लैंगिक भेदभाव सहज ही होता है। इसका मतलब यह नहीं है कि शोषण भी हो। बाधाएँ तो आती और जाती रहेंगी, किंतु लैंगिक...