गीत/नवगीत

गीत – तुम बहू कहां से लाओगे

अगर नहीं रहेंगी बेटियां ही, तो तुम बहू कहां से लाओगे एक पहिए से  नहीं चलती, यह गृहस्थी वाली गाड़ी भी जितनी चाहत है बेटा की, उतनी ही आवश्यक लाडी भी बेटियां दुनियां में ना आयेंगी, तो फिर वंश कैसे बढ़ाओगे अगर नहीं रहेंगी बेटियां ही, तो तुम बहू कहां से लाओगे सृष्टि का  आधार […]